Breaking
दोपहर में सर्द हवाओं ने बढ़ाई ठंड दिन का पारा सामान्य से 2 डिग्री कम ​​​​पेटीएम वॉलेट बैंक एक्टिवेटेड थे सिम, गिरोह के सदस्यों की तलाश पानी भरने गई पीड़िता से की थी अभद्रता , 8 साल पहले दर्ज हुआ था मामला दिसंबर में बुध, शुक्र, सूर्य का गोचर, जानें कब है गीता जयंती, एकादशी, क्रिसमस वर्ष 2023 में संतान की रक्षा, सेहत, आयु और खुशी के लिए आ रहे हैं 6 व्रत न प्रिंसिपल आए और न शिक्षक; पढ़िए पूरा मामला अनुसूचित जाति के लिए 13% आरक्षण का विरोध,16 फीसदी नहीं करने पर आंदोलन की चेतावनी शीतकालीन सत्र पर फैसला; विधायी कार्यों की भी मिलेगी मंजूरी, ग्रीन टैक्स पर लगेगी मुहर मोहाली के विकास भवन में की जाएगी कार्यक्रम की शुरूआत हिमाचल में सभी सीटों पर होगी 'आप' की जमानत जब्त, केजरीवाल को बताया देश का झूठा इंसान

हिजाब पहनकर परीक्षा देने आईं मुस्लिम छात्राएं, VHP के कार्यकर्ताओं ने स्‍कूल में किया हंगामा

कर्नाटक से शुरू हुआ हिजाब विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। इसकी आंच अब गुजरात तक पहुंच गई है। यहां सूरत के एक स्कूल में मुस्लिम छात्राओं के हिजाब पहनकर आने पर हिंदू संगठन ने विरोध दर्ज कराया है। वहीं विवाद को बढ़ने से रोकने के लिए पुलिस ने विश्व हिंदू परिषद  संगठन के 15 कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया है। सूरत के वराछा में स्थित पीपी सवाणी स्कूल में मंगलवार को 4 से 5 मुस्लिम छात्राएं हिजाब पहनकर परीक्षा देने आईं थी। वहीं स्कूल के कुछ छात्रों ने इसका वीडियो बनाकर VHP संगठन को भेज दिया। इस बात की खबर मिलते ही VHP के लोग स्कूल पहुंचे और हंगामा करने लगे। वहीं कुछ लोग प्रिंसिपल से बात करने के लिए सीधा उनके ऑफिस में घुस गए। इस पर स्कूल में विवाद हो गया। वहीं मामले की खबर लगते ही पुलिस वहां पहुंच गई और VHP के 15 कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया।

वहीं स्कूल पहुंचे VHP के नेता निलेश अकबरी ने कहा कि गुजरात को शाहीनबाग बनाने की साजिश चल रही है। हमने प्रिंसिपल से सवाल किया है कि स्कूल में ड्रेस कोर्ड नियम फॉलो क्यों नहीं किया जा रहा। दरअसल कर्नाटक में हिजाब को लेकर विवाद 1 जनवरी को शुरू हुआ था। तब उडुपी में 6 मुस्लिम छात्राओं को हिजाब पहनने के कारण कॉलेज में क्लास रूम में बैठने से रोक दिया गया। कॉलेज मैनेजमेंट ने नई यूनिफॉर्म पॉलिसी को इसकी वजह बताया। इसके बाद इन लड़कियों ने कर्नाटक हाईकोर्ट में एक याचिका दायर की थी। लड़कियों का तर्क था कि हिजाब पहनने की इजाजत न देना संविधान के अनुच्छेद 14 और 25 के तहत उनके मौलिक अधिकार का हनन है। हालांकि मामल में अभी सुनवाई चल रही है।

दोपहर में सर्द हवाओं ने बढ़ाई ठंड दिन का पारा सामान्य से 2 डिग्री कम     |     ​​​​पेटीएम वॉलेट बैंक एक्टिवेटेड थे सिम, गिरोह के सदस्यों की तलाश     |     पानी भरने गई पीड़िता से की थी अभद्रता , 8 साल पहले दर्ज हुआ था मामला     |     दिसंबर में बुध, शुक्र, सूर्य का गोचर, जानें कब है गीता जयंती, एकादशी, क्रिसमस     |     वर्ष 2023 में संतान की रक्षा, सेहत, आयु और खुशी के लिए आ रहे हैं 6 व्रत     |     न प्रिंसिपल आए और न शिक्षक; पढ़िए पूरा मामला     |     अनुसूचित जाति के लिए 13% आरक्षण का विरोध,16 फीसदी नहीं करने पर आंदोलन की चेतावनी     |     शीतकालीन सत्र पर फैसला; विधायी कार्यों की भी मिलेगी मंजूरी, ग्रीन टैक्स पर लगेगी मुहर     |     मोहाली के विकास भवन में की जाएगी कार्यक्रम की शुरूआत     |     हिमाचल में सभी सीटों पर होगी ‘आप’ की जमानत जब्त, केजरीवाल को बताया देश का झूठा इंसान     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 8860606201