Breaking
आमिर खान ने अपने नए प्रोडक्शन ऑफिस में की कलश पूजा ईरान का प्रेस टीवी नेटवर्क बंद करने से पश्चिम के पाखंड का पता चलता है : ईरानी अधिकारी टेस्ट सीरीज में मोहम्मद शमी के स्थान पर इन खिलाड़ियों को मिल सकता है मौका 4 हजार औद्योगिक समूहों को न्योता... जी 20 की भी तैयारी अब भाजपा का फोकस युवाओं पर विधानसभा में होंगे खिलते कमल कार्यक्रम गुजरात की ऐतिहासिक जीत पीएम मोदी की लोकप्रियता के कारण : केंद्रीय रक्षा मंत्री  भोपाल में 2500 स्वयंसेवक एक साथ शारीरिक प्रदर्शन करेंगे जया किशोरी : श्रीमद् भागवत कथा में भक्ति रस की प्रधानता न हो तो कथा का आनंद ही नहीं सीएम योगी देंगे 387.59 करोड़ की सौगात सड़क सुरक्षा अभियान में सहभागी बना भोपाल, महात्‍मा गांधी स्‍कूल में कलेक्‍टर ने दिलाई बच्‍चों को यात...

फिर तबाही मचा सकता है ओमिक्रॉन का नया सब-वेरिएंट, WHO ने बताया कितना है खतरनाक

कोरोना वायरस के ओमिक्रॉन वेरिएंट का सब-वेरिएंट BA.2 न केवल तेजी से फैलता है बल्कि यह गंभीर बीमारी का कारण भी बनता है. BA.2 सब-वेरिएंट पर WHO नजरें गड़ाकर बैठा है.

नई दिल्ली: दुनियाभर में कोरोना वायरस के मामलों में कमी जरूर हुई है, लेकिन अभी भी इसका खतरा टलता नहीं दिख रहा है. कोरोना वायरस लगातार अपना रूप बदल रहा है. अब तक इसके कई वेरिएंट सामने आए हैं. कोरोना के ओमिक्रॉन वेरिएंट के सामने आने के बाद कहा गया कि ये कम खतरनाक है, लेकिन इसके भी सब-वेरिएंट सामने आए हैं. इससे लोगों की एक बार फिर से चिंता बढ़ गई है.

BA.2 तेजी से फैलता है

एक स्टडी के मुताबिक, कोरोना वायरस के ओमिक्रॉन वेरिएंट का सब-वेरिएंट BA.2 न केवल तेजी से फैलता है बल्कि यह गंभीर बीमारी का कारण भी बनता है. इस रिसर्च में सामने आया कि BA.2 और BA.2 वेरिएंट के बढ़ने के साथ ही पहले संक्रमित पाए गए लोग फिर से संक्रमित पाए गए. इससे यह सवाल खड़ा हो गया है कि क्या BA.2 पहले संक्रमण के बाद हासिल हुई एंटीबॉडीज से बच सकता है.

Read more:यूक्रेन संकट: भारत-रूस संबंधों को लेकर अमेरिका ने दिया बड़ा बयान, जानें क्या कहा

WHO नए वेरिएंट पर रख रहा है निगरानी

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कहा है कि वो ओमिक्रॉन के BA.2 सब-वेरिएंट पर नजरें गड़ाकर बैठा है. WHO उन देशों की निगरानी कर रहा है जिनमें कोविड -19 तीसरी लहर के दौरान ओमीक्रोन मामलों में तेजी देखी गई थी. WHI उन देशों की इसलिए निगरानी कर रहा है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि ओमिक्रॉन के सब-लाइनेज BA.1 और BA.2 के लिए पुन: संक्रमण का खतरा है या नहीं.

Read more:मिलिट्री पावर में कौन सा देश है नंबर 1, क्या है भारत की पोजीशन? जानें सबकुछ

‘BA.2 अभी तक नहीं है ज्यादा गंभीर’

WHO ने कहा कि अगर BA.2 केसों में इजाफा हुआ, तो इसका मतलब होगा कि फिर से संक्रमण होने की संभावना है. WHO के आधिकारिक बयान में कहा गया है कि BA.1 की तुलना में BA.2 के साथ पुन: संक्रमण के जोखिम का मूल्यांकन कर रहे हैं. WHO ने कहा कि BA.2, BA.1 की तुलना में अधिक संक्रामक है, लेकिन सब-वेरिएंट अधिक गंभीर नहीं है. डब्ल्यूएचओ में कोविड-19 टेक्निकल लीड मारिया वान केरखोवा ने कहा कि सभी सब-वेरिएंटों BA.2, BA.1 की तुलना में अधिक संक्रामक है. हालांकि, गंभीरता के मामले में कोई अंतर नहीं है.

आमिर खान ने अपने नए प्रोडक्शन ऑफिस में की कलश पूजा     |     ईरान का प्रेस टीवी नेटवर्क बंद करने से पश्चिम के पाखंड का पता चलता है : ईरानी अधिकारी     |     टेस्ट सीरीज में मोहम्मद शमी के स्थान पर इन खिलाड़ियों को मिल सकता है मौका     |     4 हजार औद्योगिक समूहों को न्योता… जी 20 की भी तैयारी     |     अब भाजपा का फोकस युवाओं पर विधानसभा में होंगे खिलते कमल कार्यक्रम     |     गुजरात की ऐतिहासिक जीत पीएम मोदी की लोकप्रियता के कारण : केंद्रीय रक्षा मंत्री      |     भोपाल में 2500 स्वयंसेवक एक साथ शारीरिक प्रदर्शन करेंगे     |     जया किशोरी : श्रीमद् भागवत कथा में भक्ति रस की प्रधानता न हो तो कथा का आनंद ही नहीं     |     सीएम योगी देंगे 387.59 करोड़ की सौगात     |     सड़क सुरक्षा अभियान में सहभागी बना भोपाल, महात्‍मा गांधी स्‍कूल में कलेक्‍टर ने दिलाई बच्‍चों को यातायात नियम पालन की शपथ     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 8860606201