Breaking
उज्जैन: विधायक के सामने BJP पार्षद पर चाकू से जानलेवा हमला, गाड़ी टकराने पर हुआ विवाद गैर हिंदू युवक ने नाबालिग को प्रेम जाल में फंसा कर किया दुष्कर्म, FIR के साथ बजरंग दल ने की जमकर धुन... एमडी के नेतृत्व में जिला अस्पताल पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम, सुविधाओं और बिल्डिंग का बारीकी से कि... बनाएं खसखस का हलवा सर्दियों में आपको रखेगा सेहतमंद 8 बिंदुओं पर पुलिसकर्मियों और अधिकारियों को शपथ दिलाई ज्यादा खून बह जाने से हुई थी मौत; दोषी प्रेमी को उम्रकैद की सजा काशी के मौसम का मिजाज बदला,सुबह कोहरा रहा अधिक, शाम में गलन छात्र संघ चुनाव निरस्त होने पर प्रदर्शन, छत से कूदे स्टूडेंट्स बोले- रामपुर में भाजपा की जीत से आजम के आतंक का अंत, अखिलेश-शिवपाल दिखावे के लिये अलग थे | Said- Aza... महू-नसीराबाद हाइवे पर जानलेवा गड्डे, ठेकेदार बोला- भूमिपूजन के बाद ही काम शुरू करेंगे

अगले साल 3000 नए पंचायत भवन बनाएगी सरकार

अगले वित्तीय वर्ष 2022-23 में राज्य में तीन हजार नये पंचायत सरकार भवन का निर्माण शुरू किया जाएगा। इसकी सारी तैयारी पूरी कर ली गई है। विधानसभा में सोमवार को पंचायती राज मंत्री सम्राट चौधरी ने इसकी घोषणा की। मंत्री ने कहा कि तीन हजार पंचायतों में भूमि की उपलब्धता की सूचना देने के लिए वे विधायकों से भी आग्रह करेंगे। उन्होंने कहा कि अभी-तक 3200 पंचायत सरकार भवन के निर्माण की स्वीकृति मिली है, जिसपर निर्माण कार्य चल रहा है। 1480 पंचायत सरकार भवन का निर्माण पूरा हो चुका है। चरणवार राज्य के सभी 8067 ग्राम पंचायतों में पंचायत सरकार भवन का निर्माण कराया जाएगा।

पंचायती राज संस्थाओं द्वारा पिछले पांच सालों में गांवों के विकास में 25 हजार करोड़ खर्च किये गए हैं। गली-नाली पक्कीकरण योजना में गांवों की गलियों में पक्का रास्ता बनाया गया। मुख्यमंत्री का साफ निर्देश है कि एक भी टोला और बसावट पक्की सड़क से वंचित नहीं रहेगा, इसे सुनिश्चित किया जाय। इसको लेकर राज्य के सभी जिलों में सर्वेक्षण कराया गया है, जिसकी रिपोर्ट आते ही छूटी जगहों पर निर्माण कराया जाएगा।उन्होंने यह भी कहा कि गांवों के लोगों को किसी काम के लिए प्रखंड कार्यालय का चक्कर नहीं लगाना पड़े, उनके सभी काम पंचायत कार्यालय में ही हो जाय, इसकी व्यवस्था की जा रही है। पंचायती राज अनुदान मांग का कटौती प्रस्ताव राजद के ललित यादव ने रखा, जिसे बहुमत से अस्वीकृत कर दिया गया।

पंचायती राज मंत्री ने कहा कि वर्ष 2006 में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ग्राम पंचायतों में महिलाओं को 50 प्रतिशत का आरक्षण दिया। महिला सशक्तीकरण को लेकर पूरे देश में इस निर्णय का बड़ा संदेश गया। आरक्षण का परिणाम यह हुआ कि महिलाएं बढ़-चढ़ कर समाज की मुख्य धारा में आईं और इस बार पंचायत चुनाव में 58 प्रतिशत सीटों पर महिलाएं निर्वाचित हुईं। पहली बार पंचायत चुनाव में ईवीएम का प्रयोग हआ। बॉयोमेट्रिक का उपयोग हुआ, जिससे वोगस वोट पूरी तरह रुक गया। इसका यह परिमाण हुआ कि चुनाव में 78 प्रतिशत नये प्रतिनिधि निर्वाचित हुए।

उज्जैन: विधायक के सामने BJP पार्षद पर चाकू से जानलेवा हमला, गाड़ी टकराने पर हुआ विवाद     |     गैर हिंदू युवक ने नाबालिग को प्रेम जाल में फंसा कर किया दुष्कर्म, FIR के साथ बजरंग दल ने की जमकर धुनाई     |     एमडी के नेतृत्व में जिला अस्पताल पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम, सुविधाओं और बिल्डिंग का बारीकी से किया निरीक्षण     |     बनाएं खसखस का हलवा सर्दियों में आपको रखेगा सेहतमंद     |     8 बिंदुओं पर पुलिसकर्मियों और अधिकारियों को शपथ दिलाई     |     ज्यादा खून बह जाने से हुई थी मौत; दोषी प्रेमी को उम्रकैद की सजा     |     काशी के मौसम का मिजाज बदला,सुबह कोहरा रहा अधिक, शाम में गलन     |     छात्र संघ चुनाव निरस्त होने पर प्रदर्शन, छत से कूदे स्टूडेंट्स     |     बोले- रामपुर में भाजपा की जीत से आजम के आतंक का अंत, अखिलेश-शिवपाल दिखावे के लिये अलग थे | Said- Azam’s terror ended with BJP’s victory in Rampur, Akhilesh-Shivpal were different for appearances     |     महू-नसीराबाद हाइवे पर जानलेवा गड्डे, ठेकेदार बोला- भूमिपूजन के बाद ही काम शुरू करेंगे     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 8860606201