Breaking
Rashtrapati Bhavan Visit: आम जनता के लिए आज से खुला राष्ट्रपति भवन डेमोक्रेट ने अपने हाउस कॉकस के नेता के रूप में अफ्रीकी अमेरिकी को चुना इस माह रिकॉर्ड 1.36 करोड़ आयुष्मान कार्ड बनाए गए योजना शुरु होने से सबसे ज्यादा  महान खिलाड़ी पेले सात महीने बाद फिर से हुए Hospitalized कार्यकर्ताओं ने बैनर, फ्लेक्स व पोस्टर से सजा चौराहा, एसपी ने कहा- सुसनेर मार्ग ​​​​​​​को खाली रखा ज...  कांग्रेस ने आदिवासी गरीब और वंचितों के नाम पर केवल राजनीति की है : अमित शाह आधा किलो अफीम बरामद; राजस्थान से सप्लाई करने सिटी आया था दो से तीन दिन पहले हत्या की आशंका; फोरेंसिक टीम के साथ पहुंची पुलिस शादी के कुछ घंटों के भीतर ही मशहूर सिंगर Jake Flint का निधन रुपये की मजबूती से सोना- चांदी हुए सस्ते

यूरोप में हो सकते हैं मंदी से भी बदतर हालात, रूस को पश्चिमी वित्तीय बाजारों से किया जा रहा है अलग

RUSSIA-UKRAINE WAR: यूरोप में मंदी से भी बदतर हालात हो सकते हैं. रूस को पश्चिमी वित्तीय बाजारों से अलग किया जा रहा है. कैपिटल इकोनॉमिक्स के अनुसार, रूसी ऊर्जा आयात पर पूर्ण प्रतिबंध ब्रेंट क्रूड की कीमतों को 160 डॉलर प्रति बैरल तक ले जाएगा और कोरोनवायरस वायरस महामारी की शुरुआत के बाद से यूरोजोन को अपनी तीसरी मंदी में धकेल देगा.

RUSSIA-UKRAINE WAR: यूक्रेन पर रूस (RUSSIA-UKRAINE WAR) के हमले के बाद लगाए गए पश्चिमी प्रतिबंधों के कारण वैश्विक ऊर्जा कीमतों में तेजी आई है और यूरोप में उपभोक्ताओं का विश्वास गिर गया है. सीएनएन ने बताया कि रूस को पश्चिमी वित्तीय बाजारों से अलग किया जा रहा है.

अर्थशास्त्रियों को उम्मीद है कि इससे यूरोप की अर्थव्यवस्था (EUROPEAN ECONOMY) को नुकसान होगा. बार्कलेज के विश्लेषकों ने इस वर्ष के लिए अपने यूरोजोन के विकास के अनुमान को 1.7 प्रतिशत अंक घटाकर 2.4 प्रतिशत कर दिया है. पूरे महाद्वीप में निजी खपत, निवेश और निर्यात सभी धीमी गति से बढ़ने की उम्मीद है.

इसी समय, ऊर्जा और अन्य वस्तुओं जैसे गेहूं और धातु की कीमतें तेजी से बढ़ रही हैं. सीएनएन ने बताया कि बार्कलेज ने अपने 2022 यूरोजोन मुद्रास्फीति पूवार्नुमान को 1.9 प्रतिशत अंक बढ़ाकर 5.6 प्रतिशत कर दिया है.

दूसरे शब्दों में, युद्ध गतिरोध को भड़का रहा है, जो उच्च मुद्रास्फीति और कमजोर आर्थिक विकास की अवधि का वर्णन करता है. सबसे ताजा उदाहरण 1970 का दशक है, जब ऊर्जा आपूर्ति के झटके ने विकसित अर्थव्यवस्थाओं को प्रभावित किया.

सीएनएन ने बताया कि यूरोप अब मुद्रास्फीति के कारण मंदी से भी बदतर स्थिति का सामना कर सकता है. नियंत्रण से बाहर मुद्रास्फीति के साथ मंदी संभावित है.

बार्कलेज ने कहा कि अपने पूवार्नुमानों में बड़ी गिरावट के बाद भी अर्थव्यवस्था उम्मीद से ज्यादा खराब हो सकती है. बैंक ने आगाह किया कि स्थिति अत्यधिक अनिश्चित है.

कैपिटल इकोनॉमिक्स के अनुसार, रूसी ऊर्जा आयात पर पूर्ण प्रतिबंध ब्रेंट क्रूड की कीमतों को 160 डॉलर प्रति बैरल तक ले जाएगा और कोरोनवायरस वायरस महामारी की शुरुआत के बाद से यूरोजोन को अपनी तीसरी मंदी में धकेल देगा.

अर्थशास्त्री कैरोलिन बैन ने कहा, “रूसी ऊर्जा व्यापार में गिरावट यूरोप के कुछ हिस्सों में बिजली राशनिंग को तेज कर देगी, जो बदले में आपूर्ति श्रृंखलाओं को तोड़ देगी और वैश्विक स्तर पर अतिरिक्त मुद्रास्फीति दबाव बढ़ा सकती है.”

सीएनएन की रिपोर्ट के मुताबिक, “ऊर्जा की ऊंची कीमतों से कृषि जिंसों और औद्योगिक धातुओं की कीमतों में भी इजाफा होगा.”

Rashtrapati Bhavan Visit: आम जनता के लिए आज से खुला राष्ट्रपति भवन     |     डेमोक्रेट ने अपने हाउस कॉकस के नेता के रूप में अफ्रीकी अमेरिकी को चुना     |     इस माह रिकॉर्ड 1.36 करोड़ आयुष्मान कार्ड बनाए गए योजना शुरु होने से सबसे ज्यादा      |     महान खिलाड़ी पेले सात महीने बाद फिर से हुए Hospitalized     |     कार्यकर्ताओं ने बैनर, फ्लेक्स व पोस्टर से सजा चौराहा, एसपी ने कहा- सुसनेर मार्ग ​​​​​​​को खाली रखा जाएगा     |      कांग्रेस ने आदिवासी गरीब और वंचितों के नाम पर केवल राजनीति की है : अमित शाह     |     आधा किलो अफीम बरामद; राजस्थान से सप्लाई करने सिटी आया था     |     दो से तीन दिन पहले हत्या की आशंका; फोरेंसिक टीम के साथ पहुंची पुलिस     |     शादी के कुछ घंटों के भीतर ही मशहूर सिंगर Jake Flint का निधन     |     रुपये की मजबूती से सोना- चांदी हुए सस्ते     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 8860606201