Breaking
HSBC ब्रिटेन में अपनी 114 शाखाएं करेगा बंद रेणुका चौधरी का पलटवार पीएम मोदी ने मेरी तुलना शूर्पणखा से की थी तब मीडिया कहां थी  रवींद्र जडेजा ने जामनगर में किया मतदान, जानिए अब तक कहां कितनी वोटिंग हुई बिहार में नगर निकाय चुनाव की नई तारीखों का ऐलान, दो चरणों में होंगे मतदान बारिश के कारण भारत-न्यूजीलैंड के बीच तीसरा वनडे मैच भी हुआ रद्द क्रेडिट कार्ड वेरीफिकेशन के नाम पर पटवारी को लूटा, रिलायंस कस्टमर से आया मैसेज छत्तीसगढ़ की 'माउंटेन गर्ल' नैना सिंह को राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने किया सम्मानित सुखबीर बादल को त्याग पत्र देना चाहिए; कमेटी में BB जगीर कौर समेत 12 लीडर शामिल हरियाणा कैबिनेट की बैठक शुरू, शीतकालीन सत्र पर होगा फैसला लिफ्ट में 25 मिनट तक फंसी रहीं तीन बच्चियां

 एके एंटनी ले रहे हैं राजनीति से संन्यास, सोनिया को लिखा पत्र

नई दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और गांधी परिवार के बेहद ही करीबी रहे पूर्व रक्षा मंत्री एके एंटनी राजनीति से संन्यास ले रहे हैं। इसके साथ ही वह आगे अब कोई चुनाव नहीं लड़ेंगे। इसको लेकर उन्होंने कांग्रेस आलाकमान को भी पत्र लिखा है। अपने पत्र में उन्होंने कहा है कि अब वह सक्रिय राजनीति से संन्यास लेना चाहते हैं। अपने पत्र में एके एंटनी ने लिखा है कि वह राज्यसभा का चुनाव नहीं लड़ेंगे और अप्रैल में अपना कार्यकाल समाप्त होने के बाद वह गृह राज्य केरल वापस चले जाएंगे। एके एंटनी के इस घोषणा के बाद उनके 52 साल के राजनीतिक कैरियर का अंत हो रहा है।

केरल में राज्यसभा के 3 सीटों के लिए 30 मार्च को चुनाव होने हैं। अपने पत्र में इंटरव्यू ने सोनिया गांधी से कहा कि 2 अप्रैल को उनका कार्यकाल खत्म हो रहा है। ऐसे मैं बाहर दोबारा चुनाव नहीं लड़ना चाहते हैं। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कह दिया कि अब वह दिल्ली में नहीं रहना चाहते। वह अपने गृह राज्य केरल शिफ्ट हो जाएंगे। 52 साल की लंबी राजनीति के बाद वह इससे दूर हो रहे हैं। 1970 में वह पहली बार केरल में विधायक बने थे। वह कांग्रेस युवा और छात्र विंग के भी नेता रह चुके हैं। इतना ही नहीं, केरल के मुख्यमंत्री के रूप में उन्होंने तीन बार अपनी सेवाएं दी हैं। महज 37 साल की उम्र में वह केरल के मुख्यमंत्री भी बन गए थे। केरल विधानसभा चुनाव के दौरान ही एंटनी ने कहा था कि वह अब राजनीति से संन्यास लेना चाहते हैं। इंदिरा गांधी और राजीव गांधी के कार्यकाल के दौरान वह कांग्रेस कमेटी के महासचिव रह चुके हैं। 2004 में व केंद्र की राजनीति में सक्रिय हुए। उन्हें मनमोहन सिंह की सरकार में रक्षा मंत्री बनाया गया। आज भी कई अहम कमेटियों के वह सदस्य हैं। इसके अलावा पार्टी के कई मसलों में उनकी राय बेहद जरूरी रहती हैं।

HSBC ब्रिटेन में अपनी 114 शाखाएं करेगा बंद     |     रेणुका चौधरी का पलटवार पीएम मोदी ने मेरी तुलना शूर्पणखा से की थी तब मीडिया कहां थी      |     रवींद्र जडेजा ने जामनगर में किया मतदान, जानिए अब तक कहां कितनी वोटिंग हुई     |     बिहार में नगर निकाय चुनाव की नई तारीखों का ऐलान, दो चरणों में होंगे मतदान     |     बारिश के कारण भारत-न्यूजीलैंड के बीच तीसरा वनडे मैच भी हुआ रद्द     |     क्रेडिट कार्ड वेरीफिकेशन के नाम पर पटवारी को लूटा, रिलायंस कस्टमर से आया मैसेज     |     छत्तीसगढ़ की ‘माउंटेन गर्ल’ नैना सिंह को राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने किया सम्मानित     |     सुखबीर बादल को त्याग पत्र देना चाहिए; कमेटी में BB जगीर कौर समेत 12 लीडर शामिल     |     हरियाणा कैबिनेट की बैठक शुरू, शीतकालीन सत्र पर होगा फैसला     |     लिफ्ट में 25 मिनट तक फंसी रहीं तीन बच्चियां     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 8860606201