Breaking
सब्जी काटने वाले चाकू से किया ताबड़तोड़ हमला; अस्पताल ले जाते वक्त मौत जनसभा के बाद चुनाव प्रचार के लिए गुजरात रवाना होंगे राहुल मांगों को लेकर 15 दिन का अल्टीमेटम; अमल न होने पर आर-पार की लड़ाई फिल्म 'The Kashmir Files' पर बयान देना इस्राइली फिल्म मेकर को पड़ा भारी नगर निगम सफाई इंस्पेक्टर को दी गई गालियां, नाराज कर्मचारियों ने पुलिस चौकी घेरा सात साल बाद बच्ची को मिला न्याय,दुष्कर्म आरोपी को 20 साल की कैद.. 573 मीटर ऊंची पहाड़ी पर रोकी पेड़ों की कटाई, अब इस पहाड़ी पर हरे-भरे हैं डेढ़ लाख से ज्यादा पेड़ नाराज मुख्यमंत्री की लगातार 6 पोस्ट, ईडी-आईटी वाले अफसरों को मुर्गा बनाकर पीट रहे हैं, अब शिकायत मिल... रिफ्लेक्टर जैकेट, एल्कोमीटर होने के बाद भी रात में ट्रैफिक पुलिस सड़कों से हो जाती है गायब दिन का तापमान जहां 28 डिग्री, न्यूनतम 8.1 डिग्री पर पहुंचा, सर्द उत्तरी हवाओं से दिन में भी बढ़ी ठिठु...

ट्रेनें रद, आर्थिक संकट से जूझ रहे बिलासपुर जोनल स्टेशन के कुली

बिलासपुर। जोनल स्टेशन के 100 से अधिक कुली आर्थिक संकट से जूझ रहे हैं। दरअसल अधोसंरचना से जुड़े कार्यों को पूरा करने के लिए रेलवे ने अधिकांश ट्रेनें रद कर दी है। स्टेशन में गिनते के यात्री नजर आ रहे हैं। यही वजह है कि दिनभर गुजरने के बाद बोहनी तक नहीं होती। सबसे बड़ी विड़ंबना यह है कि इनकी सुध लेने वाला कोई नहीं है। पूरे समय में कुली स्टेशन में मायूस बैठे रहते है।

कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर समाप्त होने के बाद ट्रेनें पहले की तरह चलने लगी थी। यात्रियों की भीड़ बढ़ने से कुलियों को काम भी मिलने लगा था। पर इसी बीच तीसरी लहर की दस्तक हुई और एक बार फिर यात्रियों की संख्या ट्रेनों में घटने लगी थी। इसके बाद भी थोड़ी बहुत आवक हो रही थी। पर रेलवे ने अब उसे भी बंद कर दिया है। कटनी सेक्शन हो या बिलासपुर- हावड़ा रेल मार्ग या फिर नागपुर मंडल सभी जगहों पर रेलवे अधोसंरचना का कार्य करा रही है

इसका सीधा असर ट्रेनों के परिचालन पर पड़ा है। बिलासपुर- हावड़ा रेल मार्ग पर खरसिया- राबटर्सन के बीच चौथी लाइन को जोड़ने का काम चल रहा है। इसके चलते 16 ट्रेनें 26 जनवरी तक अलग- अलग तिथि में रद है। कुछ परिवर्तित मार्ग से भी चल रही है। यही वजह है कि जोनल स्टेशन में पूरे समय सन्न्ाटा पसरा रहता है। ढूंढने से भी यात्री नजर नहीं आते। यात्री ही नहीं आ रहे हैं तो कुली किनका बोझ उठाएंगे। वह इसके चलते परेशान है और मायूस भी है। उनका कहना है कि कुछ महीने से उनका रोजगार ठीक चल रहा था।

कमाई भी होने लगी थी। ऐसा लग रहा था कि मानों संक्रमण का कठिन दौर गुजर गया है और स्थिति पहले जैसी हो जाएगी। हालांकि तीसरी लहर की वजह से रेलवे ने ट्रेन तो रद नहीं की पर अधोसरंचना विकास कार्य के चलते थोक में ट्रेनें रद कर दी है। जिसके चलते आर्थिक परेशानी दोबारा शुरू हो गई है।

सब्जी काटने वाले चाकू से किया ताबड़तोड़ हमला; अस्पताल ले जाते वक्त मौत     |     जनसभा के बाद चुनाव प्रचार के लिए गुजरात रवाना होंगे राहुल     |     मांगों को लेकर 15 दिन का अल्टीमेटम; अमल न होने पर आर-पार की लड़ाई     |     फिल्म ‘The Kashmir Files’ पर बयान देना इस्राइली फिल्म मेकर को पड़ा भारी     |     नगर निगम सफाई इंस्पेक्टर को दी गई गालियां, नाराज कर्मचारियों ने पुलिस चौकी घेरा     |     सात साल बाद बच्ची को मिला न्याय,दुष्कर्म आरोपी को 20 साल की कैद..     |     573 मीटर ऊंची पहाड़ी पर रोकी पेड़ों की कटाई, अब इस पहाड़ी पर हरे-भरे हैं डेढ़ लाख से ज्यादा पेड़     |     नाराज मुख्यमंत्री की लगातार 6 पोस्ट, ईडी-आईटी वाले अफसरों को मुर्गा बनाकर पीट रहे हैं, अब शिकायत मिली तो कार्रवाई     |     रिफ्लेक्टर जैकेट, एल्कोमीटर होने के बाद भी रात में ट्रैफिक पुलिस सड़कों से हो जाती है गायब     |     दिन का तापमान जहां 28 डिग्री, न्यूनतम 8.1 डिग्री पर पहुंचा, सर्द उत्तरी हवाओं से दिन में भी बढ़ी ठिठुरन, रात का तापमान स्थिर     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 8860606201