Breaking
“भाषा” महज एक शब्द नहीं, संस्कृति का पर्याय है। यदि संस्कृति को बचाना है तो भाषा को बचाना होगा जन-जन को जोड़ें "महाकाल लोक" के लोकार्पण समारोह से : मुख्यमंत्री चौहान Women Business Idea- घर बैठे कम लागत में महिलायें शुरू कर सकती हैं यह बिज़नेस राज्यपाल उइके वर्धा विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित राष्ट्रीय संगोष्ठी में हुई शामिल, अंबेडकर उत्कृष्टता... विराट कोहली नहीं खेलेंगे अगला मुकाबला मनोरंजन कालिया बोले- करेंगे मानहानि का केस,  पूर्व मेयर राठौर  ने कहा दोनों 'झूठ दिआं पंडां कहा-बेटे का नाम आने के बावजूद टेनी ने नहीं दिया मंत्री पद से इस्तीफा करनाल में बिल बनाने की एवज में मांगे थे 15 हजार, विजिलेंस ने रंगे हाथ दबोचा स्कूल में भिड़ीं 3 शिक्षिकाएं, BSA ने तीनों को किया निलंबित दिल्ली से यूपी तक होती रही चेकिंग, औरैया में पकड़ा गया, हत्या का आरोप

आदित्यनाथ के लिए उज्जैन के श्मशान में तंत्र साधना में जुटा अघोरी! बोला- UP में योगी बनना चाहिए CM

उज्जैन: उत्तर प्रदेश, पंजाब, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर में विधानसभा चुनाव का ऐलान हो चुका है। इन चुनाव में कौन सी पार्टी बाजी मारेगी और कौन होगा अगला मुख्यमंत्री, ये आने वाला समय बताएगा लेकिन चुनाव जितने के लिए पार्टियां जंहा वोटरों को लुभाने के लिए हर प्रयास कर रही है। वहीं मुख्यमंत्री योगी के समर्थक उनकी जीत के लिए हर पैतरा आजमा रहे हैं। उज्जैन के शमशान में सीएम योगी की जीत के लिए तंत्र क्रिया की गई। उज्जैन शहर को धर्मनगरी होने के साथ तंत्र साधना का गढ़ भी माना जाता है। दूर दूर से लोग यंहा तंत्र साधना करवाने आते है।

शिप्रा नदी किनारे शमशान में रहने वाले तांत्रिक अघोरी बाबा बमबम नाथ ने शुक्रवार को सीएम योगी की जीत  और उनके मुख्य मंत्री बनने के लिए अपने तंत्र साधकों के साथ तंत्र साधना की। बाबा बमबम नाथ के पास कई लोग तंत्र क्रिया कराने आते है। लेकिन चुनावी माहौल में सीएम योगी को गुरु भाई मानकर नाथ सम्प्रदाय से जुड़े बाबा ने शमशान में तीन घंटे तक पूजन अर्चन और तंत्र साधना की। बमबम नाथ ने कहा कि चुनाव के लिए कई बार हमने नेताओं के लिए तंत्र क्रिया की है लेकिन जीतने के बाद कोई नहीं आता, यूपी में योगी का आना जरुरी है वो नहीं आये तो कानून व्यवस्था ख़राब हो जायेगी।

इससे पहले हमने उमा भारती और मायावती के लिए भी तंत्र क्रिया की थी लेकिन कोई पलट कर हमारे पास नहीं आया। सीएम योगी और तांत्रिक बाबा बमबम नाथ नाथ सम्प्रदाय से हैं, महाकाल की नगरी में अघोरी पूजा, तंत्र पूजा, रात्रि पूजा सहित महामृत्युंजय पूजा का खासा महत्व होता है जो विजय प्राप्त करने के लिए की जाती है। जीत के लिए मतदाताओं से लेकर देवी देवताओं तक को मनाने का दौर शुरू हो गया है।

यह पहला मौका नहीं है जब चुनावी माहौल में उज्जैन में पार्टी की जीत के लिए तंत्र क्रिया हो रही हो। इससे पहले भी यूपी ,एमपी सहित अन्य राज्यों के विधान सभा चुनावों और लोकसभा चुनावों में भी उज्जैन के चक्र तीर्थ शमशान घाट सहित माँ  बगलामुखी माता मंदिर में तंत्र क्रिया हो चुकी है।

“भाषा” महज एक शब्द नहीं, संस्कृति का पर्याय है। यदि संस्कृति को बचाना है तो भाषा को बचाना होगा     |     जन-जन को जोड़ें “महाकाल लोक” के लोकार्पण समारोह से : मुख्यमंत्री चौहान     |     Women Business Idea- घर बैठे कम लागत में महिलायें शुरू कर सकती हैं यह बिज़नेस     |     राज्यपाल उइके वर्धा विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित राष्ट्रीय संगोष्ठी में हुई शामिल, अंबेडकर उत्कृष्टता केंद्र का भी किया शुभारंभ     |     विराट कोहली नहीं खेलेंगे अगला मुकाबला     |     मनोरंजन कालिया बोले- करेंगे मानहानि का केस,  पूर्व मेयर राठौर  ने कहा दोनों ‘झूठ दिआं पंडां     |     कहा-बेटे का नाम आने के बावजूद टेनी ने नहीं दिया मंत्री पद से इस्तीफा     |     करनाल में बिल बनाने की एवज में मांगे थे 15 हजार, विजिलेंस ने रंगे हाथ दबोचा     |     स्कूल में भिड़ीं 3 शिक्षिकाएं, BSA ने तीनों को किया निलंबित     |     दिल्ली से यूपी तक होती रही चेकिंग, औरैया में पकड़ा गया, हत्या का आरोप     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 8860606201