Breaking
यूनिवर्सिटी एंट्रेंस एग्जाम में छात्राओं की एंट्री पर लगाया बैन पीएम मोदी ने महात्मा गांधी की 75वीं पुण्यतिथि पर बापू को किया याद एसडीपीआई 100 सीटों पर लड़ेगी चुनाव इंदौर के लिए नए पुलिस कमिश्नर की ढुंढाई शुरू  करेली में अतिक्रमण हटाने को लेकर जमकर हुआ विवाद, महिला ने खुद पर डाला केरोसिन बलूचिस्तान में गहरे नाले में गिरी बस, 39 की दर्दनाक मौत, कई घायल मुख्यमंत्री चौहान ने सामाजिक संस्था के प्रतिनिधियों के साथ पौध-रोपण किया शिवाजी मार्केट की दुकानें शिफ्ट करना फिर अटका  राष्ट्रपति का अभिभाषण, चुनावी भाषण और सरकार का प्रोपेगेंडा था : शशि थरूर शिक्षा, अनुसंधान केंद्र और उद्योगों में साझेदारी समय की आवश्यकता

रायपुर : सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट में देरी से भड़के निमोरा के ग्रामीण

रायपुर। छत्‍तीसगढ़ की राजधानी रायपुर और आसपास के नदी-नालों की गंदे पानी को फिल्टर कर खारुन नदी में प्रवाहित करने की उद्देश्य से ग्राम पंचायत निमोरा में रायपुर नगर निगम ने तीन साल पहले सीवेज (जल) की शुद्विकरण करने सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट स्थापित करने का काम शुरू कराया था। कार्य पूरा करने की अवधि समाप्त होने के बाद भी कार्य प्लांट शुरू नहीं हो सका।
वहीं ठेका कंपनी की लापरवाही से मुख्य मार्ग दलदल में तब्दील हो गया। इसके कारण ग्रामीणों की खेती-किसानी भी बर्बाद हो गई। वे आधा-अधूरा खेती करने को मजबूर है।नाराज ग्रामीणों ने अब सड़क निर्माण के लिए हल्ला बोल दिया है। किसानों के समर्थन में भाजपा नेता अंजय शुक्ला सामने आए। उन्होंने विरोध जताया तब नगर निगम के अधिकारियों ने जल्द ही सड़क निर्माण की बात कही।
जानकारी के मुताबिक जनपद पंचायत धरसींवा के ग्राम पंचायत निमोरा में नाले की पानी को फिल्टर कर खारुन नदी में प्रवाहित कर अमृत मिशन को बढ़ावा देने के लिए मास्टर प्लान बनाया गया था। यह प्लान ग्रामीणों के लिए सर दर्द साबित होने लगा है। वरिष्ठ भाजपा नेता और बेटी बचाओ के प्रदेश संयोजक अंजय शुक्ला को जब इसकी जानकारी मिली तो वे निमोरा गांव पहुंचे। ग्रामीणों ने खेती-किसानी के लिए जाने वाले बदहाल सड़क को दुरूस्त करने की गुहार लगाई।
तीन साल से चल रहा है काम
निमोरा में निर्माणाधीन हाईटेक ट्रीटमेंट प्लांट का काम नागपुर की मेसर्स एसएमएस लिमिटेड करा रही है।क्रियान्वयन एजेंसी रायपुर नगर निगम है।निर्माण स्थल पर ठेका एजेंसी ने दोबारा बोर्ड लगाया है, जिसमें प्लांट का निर्माण 17 जुलाई 2018 से शुरू कर 30 महीने के भीतर पूरा करने का उल्लेख है,परंतु अब तक कार्य पूरा नहीं किया जा सका है।
खेती किसानी के मुख्य सड़क खराब
ग्राम पंचायत निमोरा के सरपंच लक्षण पटेल समेत ग्रामीणों ने बताया कि गांव की 600 एकड़ की फसल नाले की किनारे के रास्ते में आते है। इस सड़क को फिल्टर प्लांट बनाने वाली ठेका एजेंसी ने खुदाई कर दलदल के रूप में तब्दील कर छोड़ दिया है। दलदली सड़क होने से गांव के किसान अपने खेतों पर जाकर काम नहीं कर पा रहे है।वही नाले के उपर बनी पुल को खानापूर्ति कर मरम्मत किया गया था। बारिश के मौसम में यह पुल भी क्षतिग्रस्त हो गया है। ग्रामीणों ने समस्या का समाधान नही होने पर फिल्टर प्लांट के सामने उग्र प्रदर्शन करने की चेतावनी दी है।
कंपनी की दिख रही लापरवाही
जिस हिसाब से सड़क की बर्बादी हुई है उससे देखते ही प्रथम दृष्टया निर्माण कंपनी की लापरवाही दिखाई दे रही है। ग्रामीणों के साथ जल्द ही इस संबंध में कलेक्टर से मिलकर शिकायत करेंगे। -अंजय शुक्ला, भाजपा नेता
ग्राम पंचायत के किसानों की मुख्य मार्ग को ठेका कंपनी ने खुदाई कर दलदल का रूप तब्दील कर छोड़ दिया है।जल्द ही सड़क की मरम्मत नहीं की गई तो जिला कलेक्टर मिलकर इसकी शिकायत करेंगे।फिर भी समस्या का सामाधान नहीं होने पर उग्र आंदोलन किया जाएगा। -लक्ष्मण पटेल, सरपंच निमोरा

यूनिवर्सिटी एंट्रेंस एग्जाम में छात्राओं की एंट्री पर लगाया बैन     |     पीएम मोदी ने महात्मा गांधी की 75वीं पुण्यतिथि पर बापू को किया याद     |     एसडीपीआई 100 सीटों पर लड़ेगी चुनाव     |     इंदौर के लिए नए पुलिस कमिश्नर की ढुंढाई शुरू      |     करेली में अतिक्रमण हटाने को लेकर जमकर हुआ विवाद, महिला ने खुद पर डाला केरोसिन     |     बलूचिस्तान में गहरे नाले में गिरी बस, 39 की दर्दनाक मौत, कई घायल     |     मुख्यमंत्री चौहान ने सामाजिक संस्था के प्रतिनिधियों के साथ पौध-रोपण किया     |     शिवाजी मार्केट की दुकानें शिफ्ट करना फिर अटका      |     राष्ट्रपति का अभिभाषण, चुनावी भाषण और सरकार का प्रोपेगेंडा था : शशि थरूर     |     शिक्षा, अनुसंधान केंद्र और उद्योगों में साझेदारी समय की आवश्यकता     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 8860606201