Breaking
RBI ने रेपो रेट में बढ़ोतरी का किया एलान, होम लोन की EMI में होगा इजाफा.. सिवनी में कार को ट्रक ने टक्कर मारी, 4 की मौत वरुण ग्रोवर द्वारा निर्देशित 'ऑल इंडिया रैंक' का हुआ इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ रॉटरडैम में वर्ल्ड ... LIC का पैसा अडानी की कंपनी में क्यों डाला गया? PM के साथ क्या रिश्ता है? : लोकसभा में प्रधानमंत्री म... कुछ पार्टियां बाल विवाह के नाम पर साम्प्रदायिकता फैलाने की कोशिश कर रही हैं : एनसीपीसीआर चीफ दिल्ली हाईकोर्ट ने महिला कैदी के वर्जिनिटी टेस्ट को माना असंवैधानिक, जानें क्या कहा? संसद में अचानक सोनिया गांधी की बिगड़ी तबीयत, मां को बेचैन होते देख राहुल गांधी ने पिलाया पानी बाबा भोलेनाथ के दर्शन का बना रहे हैं मन तो इन शिव मंदिरों में जरूर जाएं कर्नाटक देश की लगभग 50 फीसदी नवीकरणीय ऊर्जा उत्पन्न करता है : बोम्मई केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ते में चार फीसदी की बढ़ोतरी कर सकती है सरकार

Pak हिंदू सांसद ने कहा-कोविड पाबंदियों कारण हुई पाकिस्तानी श्रद्धालुओं की भारत यात्रा में देरी

इस्लामाबाद: पाकिस्तान की सत्तारूढ़ पार्टी के एक प्रमुख हिंदू सांसद ने कहा है कि उनकी धार्मिक पर्यटन पहल के तहत एक पाकिस्तानी प्रतिनिधिमंडल की भारत यात्रा में विलंब हुआ है क्योंकि नयी दिल्ली को कोविड-19 संबंधी पाबंदियों के कारण पर्यटकों के लिए व्यवस्था करने के वास्ते समय चाहिए। उनका यह बयान तब आया जब भारत ने कहा कि उसने इस मामले पर ‘‘सकारात्मक रुख” अपनाया है और वह इस पर इस्लामाबाद के साथ संवाद को इच्छुक है। भारत ने शुक्रवार का कहा था कि तीर्थ स्थलों की यात्रा को लेकर 1974 के प्रोटोकॉल के तहत धार्मिक स्थलों के बारे में सहमति के आधार पर तैयार की गई सूची एवं यात्रा के तौर तरीकों का विस्तार करना भारतीय और पाकिस्तानी पक्षों के हित में है तथा इस मामले में उसका सकारात्मक रुख है।

इसने कहा था कि वह इस मामले में पाकिस्तान से संवाद को इच्छुक है। पाकिस्तान हिंदू काउंसिल के प्रमुख संरक्षक और प्रधानमंत्री इमरान खान की पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी के सांसद डॉ. रमेश कुमार वंकवानी ने शुक्रवार को एक बयान जारी करते हुए कहा कि यात्रा में विलंब हुआ है। उन्होंने कहा, ‘‘यात्रा में देरी हुई है क्योंकि भारत को कोविड-19 स्थिति के कारण व्यवस्था करने के लिए वक्त चाहिए लेकिन यह रद्द नहीं हुई है।” उन्होंने लोगों से इस यात्रा के लिए पंजीकरण कराने का भी अनुरोध किया। वंकवानी ने सोमवार को घोषणा की थी कि वह 29 जनवरी को भारत में पाकिस्तानी तीर्थयात्रियों के एक प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व करेंगे। हालांकि, बाद में यह पता चला कि उन्होंने भारत की मंजूरी के बिना यह घोषणा की थी।

वंकवानी की पहल पर प्रतिक्रिया देते हुए पाकिस्तान के विदेश कार्यालय के प्रवक्ता आसिम इफ्तिखार अहमद ने मीडिया को बताया कि भारत की यात्रा धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए पाकिस्तान हिंदू काउंसिल की पहल है। उन्होंने कहा कि नए साल की शुरुआत में भारत के तीर्थयात्रियों के एक बड़े समूह ने टेरी मंदिर और पाकिस्तान में अन्य धार्मिक स्थलों का दौरा किया। उन्होंने कहा, ‘‘हम समझते हैं कि पाकिस्तान हिंदू काउंसिल इस पहल को जारी रखना चाहती है। हम इस विचार का समर्थन करते हैं और हम मानते हैं कि भारत का भी सकारात्मक रुख है।”

RBI ने रेपो रेट में बढ़ोतरी का किया एलान, होम लोन की EMI में होगा इजाफा..     |     सिवनी में कार को ट्रक ने टक्कर मारी, 4 की मौत     |     वरुण ग्रोवर द्वारा निर्देशित ‘ऑल इंडिया रैंक’ का हुआ इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ रॉटरडैम में वर्ल्ड प्रीमियर     |     LIC का पैसा अडानी की कंपनी में क्यों डाला गया? PM के साथ क्या रिश्ता है? : लोकसभा में प्रधानमंत्री मोदी पर गरजे राहुल गांधी     |     कुछ पार्टियां बाल विवाह के नाम पर साम्प्रदायिकता फैलाने की कोशिश कर रही हैं : एनसीपीसीआर चीफ     |     दिल्ली हाईकोर्ट ने महिला कैदी के वर्जिनिटी टेस्ट को माना असंवैधानिक, जानें क्या कहा?     |     संसद में अचानक सोनिया गांधी की बिगड़ी तबीयत, मां को बेचैन होते देख राहुल गांधी ने पिलाया पानी     |     बाबा भोलेनाथ के दर्शन का बना रहे हैं मन तो इन शिव मंदिरों में जरूर जाएं     |     कर्नाटक देश की लगभग 50 फीसदी नवीकरणीय ऊर्जा उत्पन्न करता है : बोम्मई     |     केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ते में चार फीसदी की बढ़ोतरी कर सकती है सरकार     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 8860606201