Breaking
कानपुर में बड़ा हादसा जनपद में हुए दर्जनों कार्यक्रम, सांसद रह चुके हैं नरेश अग्रवाल समाज में उल्लेखनीय योगदान के लिए ’पद्मश्री मदन चौहान और पद्मश्री शमशाद बेगम सहित 16 वरिष्ठ नागरिक हु... मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पंडरिया में 68 करोड़ 87 लाख रूपए के 81 कार्यो का किया लोकार्पण और भूमिपूजन 85 मामलों में जब्त की थी हेरोइन, चरस, गांजा और नशीली गोलियां, वीडियो-फोटोग्राफी हुई अशोक गहलोत फिर दिखाएंगे जादू या सचिन पायलट बनेंगे मुख्यमंत्री, क्या होगा सोनिया गांधी का फैसला? कबाड़ी दुकान में चोरी के बाद बदमाशों ने लगाई आग ट्यूशन टीचर ने बच्ची को गर्म चिमटे से जलाया धरती से निकली हैं धमतरी की मां विंध्यवासिनी, देश विदेश से दर्शन करने आते हैं श्रद्धालु दिसंबर 2023 तक हर भारतीय के लिए 5जी लाएगी जियो : मुकेश अंबानी

स्कूली छात्रों ने बनाया सैटेलाइट रिसीविंग एंटीना

भोपाल।   प्रदेश के उज्जैन जिले के11वीं के छात्र अन्वय जोशी और अली असगर अत्तार ने महज 20 रुपये खर्च कर सैटेलाइट रिसीविंग एंटीना बनाया है। ऐसा एंटीना जिसके द्वारा बिना इंटरनेट की मदद लिए मौसम की जानकारी प्राप्त की जा सकती है। ये दोनों  उज्जैन के क्रिस्ट ज्योति कान्वेंट स्कूल के होनहार छात्र है। इन दोनों छात्रों के प्रोजेक्ट को अटल इनोवेशन मिशन (एआइएम) के स्पेस चैलेंज-2021 अंतर्गत टाप-75 नवोन्मेषकों में जगह मिली है। प्राचार्य सिस्टर मर्लिन ने बताया कि स्पेस चैलेंज सितंबर 2021 में हुआ था। देशभर के 2500 से अधिक विद्यार्थियों ने इसमें प्रतिभागिता की थी। विजेताओं की घोषणा, भारत सरकार के प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार प्रो. के. विजय राघवन ने की है। उन्होंने अंतरिक्ष विज्ञान के मूल्य और मनुष्यों के लिए इसकी चुनौतियों पर जोर दिया है। प्रोजेक्ट बनाने में मार्गदर्शन स्कूल की शिक्षिका शोभा शिंदे का रहा है। दो एल्युमिनियम की राड को एक लोहे की छड़ से कनेक्ट कर एंटीना बनाया है। एंटीना को छत पर लगाकर केबल के जरिये रिसीवर से कनेक्ट किया गया। रिसीवर को कंप्यूटर से जोड़ डेटा को साफ्टवेयर के जरिये पिक्चर फार्मेट में बदला। एंटीना, सरफेस से तीन मीटर ऊंचा है। उत्तर से दक्षिण और दक्षणि से उत्तर जब सैटेलाइट भ्रमण करता है तो रेडियशन में आने से मौसम की जानकारी मिलना शुरू हो जाती है। एंटीना की मदद से दोनों छात्रों ने दुबई के भी मौसम की जानकारी जुटाई है। स्पेस चैलेंज सितंबर 2021 में हुआ था। देशभर के 2500 से अधिक विद्यार्थियों ने इसमें प्रतिभागिता की थी। विजेताओं की घोषणा, भारत सरकार के प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार प्रो. के. विजय राघवन ने की है। उन्होंने अंतरिक्ष विज्ञान के मूल्य और मनुष्यों के लिए इसकी चुनौतियों पर जोर दिया है।

कानपुर में बड़ा हादसा     |     जनपद में हुए दर्जनों कार्यक्रम, सांसद रह चुके हैं नरेश अग्रवाल     |     समाज में उल्लेखनीय योगदान के लिए ’पद्मश्री मदन चौहान और पद्मश्री शमशाद बेगम सहित 16 वरिष्ठ नागरिक हुए सम्मानित     |     मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पंडरिया में 68 करोड़ 87 लाख रूपए के 81 कार्यो का किया लोकार्पण और भूमिपूजन     |     85 मामलों में जब्त की थी हेरोइन, चरस, गांजा और नशीली गोलियां, वीडियो-फोटोग्राफी हुई     |     अशोक गहलोत फिर दिखाएंगे जादू या सचिन पायलट बनेंगे मुख्यमंत्री, क्या होगा सोनिया गांधी का फैसला?     |     कबाड़ी दुकान में चोरी के बाद बदमाशों ने लगाई आग     |     ट्यूशन टीचर ने बच्ची को गर्म चिमटे से जलाया     |     धरती से निकली हैं धमतरी की मां विंध्यवासिनी, देश विदेश से दर्शन करने आते हैं श्रद्धालु     |     दिसंबर 2023 तक हर भारतीय के लिए 5जी लाएगी जियो : मुकेश अंबानी     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 8860606201