Breaking
आगामी रविदास जयंती को लेकर बौद्ध बिहार पर लगने वाले मेले को लेकर थाना प्रभारी संजय कुमार ने किया निर... बिजली उपभोक्ताओं को इस वर्ष दी जायेगी 22 हजार करोड़ रूपये की सब्सिडी साउथ कोरियाई अदालत ने जापान से चुराई गई बौद्ध मूर्ति के खिलाफ सुनाया फैसला जम्मू-कश्मीर के राजौरी में प्रधानमंत्री आवास योजना से 65 हजार लोग लाभान्वित फ्लाइट टिकट रिफंड के बहाने लोगों को ठगने के आरोप में 2 गिरफ्तार मजदूरों से भरी पिकअप को ट्रक ने मारी टक्कर, छह की मौत, नौ घायल महाशिवरात्रि पर बन रहा है अद्भुत संयोग, जानें शुभ मुहूर्त और पूजन विधि आंवला के पौधों में रोग एवं कीट प्रबंधन, जानें कैसे पौधों को रखें सुरक्षित ट्यूनीशिया ने आपात स्थिति को साल के अंत तक बढ़ाया भारतीय व अमेरिकी अंतरिक्ष अधिकारियों ने मानव अंतरिक्ष अन्वेषण पर की चर्चा

अगले 2 दिन कड़ाके की ठंड ढाएगी सितम, छाएगा घना कोहरा; IMD ने किया अलर्ट

Weather Update: भारत मौसम विज्ञान विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार, पश्चिमी विक्षोभ की वजह से भारत के कई राज्यों में बारिश हो सकती है. इसके अलावा सर्दी भी बढ़ेगी.

नई दिल्ली: सर्दी (Winter) के बीच अब कोहरा (Fog) लोगों की परेशानी बढ़ाने वाला है. पंजाब (Punjab), हरियाणा (Haryana), चंडीगढ़ (Chandigarh), दिल्ली (Delhi) और पश्चिमी उत्तर प्रदेश (Western Uttar Pradesh) सहित उत्तर पश्चिमी भारत में अगले चार दिनों तक कोहरा छाया रहेगा.

करना पड़ेगा भीषण ठंड का सामना

भारत मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार, कोहरे के अलावा, अगले दो दिनों तक जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा-चंडीगढ़ और उत्तर प्रदेश में ठंड से लेकर भीषण ठंड की स्थिति बने रहने की संभावना है. हालांकि मौसम एजेंसी ने ये भी कहा कि अगले 4 दिनों के दौरान उत्तर पश्चिमी भारत के अधिकांश हिस्सों में न्यूनतम तापमान में 3-5 डिग्री सेल्सियस की बढ़ोतरी होने और उसके बाद गिरने की संभावना है.

किन राज्यों में होगी बारिश?

मौसम विभाग ने आगे बताया कि एक और पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव में, 8-9 फरवरी के दौरान पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र में मध्यम बारिश या बर्फबारी होने की संभावना है और इसी दौरान पंजाब, हरियाणा और चंडीगढ़ के उत्तरी हिस्सों में अलग-अलग जगहों पर हल्की बारिश होने की भी संभावना है.

प्रदूषण का स्तर हुआ कम

इस बीच प्रदूषण का स्तर थोड़ा कम हो गया है क्योंकि दिल्ली में वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) पीएम-10 के स्तर पर 150 और पीएम-2.5 के स्तर पर 89 दर्ज किया गया है.

चूंकि पीएम-10 उच्च स्तर पर है, इसलिए सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फोरकास्टिंग एंड रिसर्च (सफर) ने एकस्वास्थ्य सलाह जारी की है, जिसमें कहा गया है कि संवेदनशील लोगों को भारी मेहनत और आउटडोर लंबे समय तक मेहनत वाले काम से बचें.

वहीं पीएम 2.5 का स्तर भी मध्यम श्रेणी में दर्ज किया गया है. आमतौर पर जब एक्यूआई 0 से 50 के बीच होता है तो वायु गुणवत्ता को अच्छा माना जाता है. इसके अलावा 51-100 के बीच इसे ‘संतोषजनक’, 101-200 के बीच ‘मध्यम’, 201-300 के बीच ‘खराब’, 301-400 के बीच ‘बहुत खराब’, 401-500 के बीच ‘गंभीर’ और 500 से अधिक पर ‘खतरनाक’ माना जाता है.

आगामी रविदास जयंती को लेकर बौद्ध बिहार पर लगने वाले मेले को लेकर थाना प्रभारी संजय कुमार ने किया निरीक्षण     |     बिजली उपभोक्ताओं को इस वर्ष दी जायेगी 22 हजार करोड़ रूपये की सब्सिडी     |     साउथ कोरियाई अदालत ने जापान से चुराई गई बौद्ध मूर्ति के खिलाफ सुनाया फैसला     |     जम्मू-कश्मीर के राजौरी में प्रधानमंत्री आवास योजना से 65 हजार लोग लाभान्वित     |     फ्लाइट टिकट रिफंड के बहाने लोगों को ठगने के आरोप में 2 गिरफ्तार     |     मजदूरों से भरी पिकअप को ट्रक ने मारी टक्कर, छह की मौत, नौ घायल     |     महाशिवरात्रि पर बन रहा है अद्भुत संयोग, जानें शुभ मुहूर्त और पूजन विधि     |     आंवला के पौधों में रोग एवं कीट प्रबंधन, जानें कैसे पौधों को रखें सुरक्षित     |     ट्यूनीशिया ने आपात स्थिति को साल के अंत तक बढ़ाया     |     भारतीय व अमेरिकी अंतरिक्ष अधिकारियों ने मानव अंतरिक्ष अन्वेषण पर की चर्चा     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 8860606201