Breaking
“भाषा” महज एक शब्द नहीं, संस्कृति का पर्याय है। यदि संस्कृति को बचाना है तो भाषा को बचाना होगा जन-जन को जोड़ें "महाकाल लोक" के लोकार्पण समारोह से : मुख्यमंत्री चौहान Women Business Idea- घर बैठे कम लागत में महिलायें शुरू कर सकती हैं यह बिज़नेस राज्यपाल उइके वर्धा विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित राष्ट्रीय संगोष्ठी में हुई शामिल, अंबेडकर उत्कृष्टता... विराट कोहली नहीं खेलेंगे अगला मुकाबला मनोरंजन कालिया बोले- करेंगे मानहानि का केस,  पूर्व मेयर राठौर  ने कहा दोनों 'झूठ दिआं पंडां कहा-बेटे का नाम आने के बावजूद टेनी ने नहीं दिया मंत्री पद से इस्तीफा करनाल में बिल बनाने की एवज में मांगे थे 15 हजार, विजिलेंस ने रंगे हाथ दबोचा स्कूल में भिड़ीं 3 शिक्षिकाएं, BSA ने तीनों को किया निलंबित दिल्ली से यूपी तक होती रही चेकिंग, औरैया में पकड़ा गया, हत्या का आरोप

वैक्सीन लगवाने के लिए आधार जरूरी नहीं, 87 लाख लोगों को बिना आईडी के लगाई वैक्सीन

केंद्र ने सोमवार को सुप्रीम कोर्ट को बताया कि कोविड-19 टीकाकरण और पंजीकरण के लिए आधार कार्ड अनिवार्य नहीं है और 87 लाख लोगों को बिना आईडी के टीका लगाया गया है। शीर्ष अदालत ने अधिकारियों से कहा कि वे टीकाकरण के लिए लोगों से आधार कार्ड मांगने पर जोर न दें।  कुछ केंद्रों पर टीकाकरण के लिए आधार कार्ड पर जोर देने का दावा करने वाली एक जनहित याचिका का निपटारा करते हुए अधिकारियों से कहा कि वे कोविड-19 टीकाकरण के लिए पहचान के एकमात्र प्रमाण के रूप में आधार कार्ड दिखाने पर जोर न दें।

बेंच ने जनहित याचिका का निपटारा करते हुए कहा कि स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने याचिका के जवाब में एक हलफनामा दायर किया, जो  विशेष रूप से यह बताता है कि CO-WIN पोर्टल पर पंजीकरण के लिए आधार कार्ड अनिवार्य नहीं है और नौ दस्तावेजों में से किसी एक को पेश किया जा सकता है। टीकाकरण का लाभ उठाने के लिए आधार दिखाना अनिवार्य नहीं है। याचिकाकर्ता की शिकायत का विधिवत निराकरण किया जाता है। सभी संबंधित प्राधिकरण स्वास्थ्य मंत्रालय की नीति के अनुसार कार्य करेंगे।

यह जनहित याचिका पुणे के रहने वाले एक वकील और सामाजिक कार्यकर्ता सिद्धार्थशंकर शर्मा द्वारा दायर की गई थी। याचिकाकर्ता की ओर से पेश हुए वकील मयंक क्षीरसागर ने तर्क दिया कि टीकाकरण केंद्रों को आधार कार्ड नहीं मांगना चाहिए। जनहित याचिका में टीके लगाने के लिए किसी व्यक्ति का सत्यापन करते समय कोविड-19 टीकाकरण केंद्र / वैक्सीनेटर के लिए CO-WIN पोर्टल में आधार विवरण जमा करने की अनिवार्य पूर्व शर्त को समाप्त करने के निर्देश मांगे गए थे।

“भाषा” महज एक शब्द नहीं, संस्कृति का पर्याय है। यदि संस्कृति को बचाना है तो भाषा को बचाना होगा     |     जन-जन को जोड़ें “महाकाल लोक” के लोकार्पण समारोह से : मुख्यमंत्री चौहान     |     Women Business Idea- घर बैठे कम लागत में महिलायें शुरू कर सकती हैं यह बिज़नेस     |     राज्यपाल उइके वर्धा विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित राष्ट्रीय संगोष्ठी में हुई शामिल, अंबेडकर उत्कृष्टता केंद्र का भी किया शुभारंभ     |     विराट कोहली नहीं खेलेंगे अगला मुकाबला     |     मनोरंजन कालिया बोले- करेंगे मानहानि का केस,  पूर्व मेयर राठौर  ने कहा दोनों ‘झूठ दिआं पंडां     |     कहा-बेटे का नाम आने के बावजूद टेनी ने नहीं दिया मंत्री पद से इस्तीफा     |     करनाल में बिल बनाने की एवज में मांगे थे 15 हजार, विजिलेंस ने रंगे हाथ दबोचा     |     स्कूल में भिड़ीं 3 शिक्षिकाएं, BSA ने तीनों को किया निलंबित     |     दिल्ली से यूपी तक होती रही चेकिंग, औरैया में पकड़ा गया, हत्या का आरोप     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 8860606201