Breaking
कानपुर में बड़ा हादसा जनपद में हुए दर्जनों कार्यक्रम, सांसद रह चुके हैं नरेश अग्रवाल समाज में उल्लेखनीय योगदान के लिए ’पद्मश्री मदन चौहान और पद्मश्री शमशाद बेगम सहित 16 वरिष्ठ नागरिक हु... मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पंडरिया में 68 करोड़ 87 लाख रूपए के 81 कार्यो का किया लोकार्पण और भूमिपूजन 85 मामलों में जब्त की थी हेरोइन, चरस, गांजा और नशीली गोलियां, वीडियो-फोटोग्राफी हुई अशोक गहलोत फिर दिखाएंगे जादू या सचिन पायलट बनेंगे मुख्यमंत्री, क्या होगा सोनिया गांधी का फैसला? कबाड़ी दुकान में चोरी के बाद बदमाशों ने लगाई आग ट्यूशन टीचर ने बच्ची को गर्म चिमटे से जलाया धरती से निकली हैं धमतरी की मां विंध्यवासिनी, देश विदेश से दर्शन करने आते हैं श्रद्धालु दिसंबर 2023 तक हर भारतीय के लिए 5जी लाएगी जियो : मुकेश अंबानी

CM शिवराज बोले- हर महीने बैंकों की क्लास लेता हूं, डंडा लेकर पीछे पड़ा हूं, तब जाकर 300 करोड़ रुपए का लोन खाते में डाले

भोपाल   मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन में गठित स्व-सहायता समूह के सदस्यों को लगभग 300 करोड़ रुपए के बैंक लोन का वितरण किया। सीएम शिवराज ने कहा- मैं हर महीने बैंकों की क्लास लेता हूं। उनसे पूछता हूं कि तुमने कितना पैसा दिया। स्व-सहायता समूह को बैंक लिंकेज मिला की नहीं। डंडा लेकर पीछे पड़ा हूं। तब जाकर आज 300 करोड़ रुपए बहनों के खाते में डाल रहे हैं। यह पैसा हर महीने डालते रहेंगे।

शिवराज ने कहा कि सरकार द्वारा ऋण की सुविधा दी जा रही है। उसकी सुविधा लो। साहूकारों से पैसा लेने की कोई जरूरत नहीं है। सूदखोरों के चक्कर में हमको नहीं पड़ना है। नहीं तो वो बर्बाद कर देते हैं। शिवराज ने कहा कि स्वसहायता समूह से जुड़ी महिलाओं से कहा कि उन्हें चिंता नहीं करना है। उन्हें ब्याज की सब्सिडी भी देंगे। बैंकों से पैसा भी दिलाएंगे। तुम्हारे प्रोडक्ट की मार्केटिंग करने में और पैकेजिंग करने में सहयोग देंगे। इसलिए पूरे आत्मविश्वास से आगे बढ़ें और एक के बाद एक नया काम करती जाओ और अपनी आमदनी बढ़ाओ।

साहब कहते- घर में बैठ रोटी बना, मैं चुनाव लड़ रहा हूं…

शिवराज ने कहा कि बचपन से ही उन्होंने बेटे और बेटियों के बीच भेदभाव होते देखा है, तभी से दिमाग में यह बात बैठ गई कि मां, बहन और बेटी के सशक्तिकरण के लिए हरसंभव कार्य करना है। इसलिए पंचायत, नगर पालिका, नगर निगम आदि चुनावों में 50 प्रतिशत पद महिलाओं के लिए आरक्षित किए। यदि ऐसा नहीं करता तो क्या महिलाएं इतनी संख्या में सरपंच, मेयर,अध्यक्ष बनतीं। ऐसा नहीं करते तो साहब कहते घर में बैठ, चुनाव तो मैं लड़ रहा हूं। आज साहब प्रचार करते हैं और कहते हैं कि मेरी श्रीमति चुनाव लड़ रही हैं। यह बड़ा सामाजिक परिवर्तन है।

कानपुर में बड़ा हादसा     |     जनपद में हुए दर्जनों कार्यक्रम, सांसद रह चुके हैं नरेश अग्रवाल     |     समाज में उल्लेखनीय योगदान के लिए ’पद्मश्री मदन चौहान और पद्मश्री शमशाद बेगम सहित 16 वरिष्ठ नागरिक हुए सम्मानित     |     मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पंडरिया में 68 करोड़ 87 लाख रूपए के 81 कार्यो का किया लोकार्पण और भूमिपूजन     |     85 मामलों में जब्त की थी हेरोइन, चरस, गांजा और नशीली गोलियां, वीडियो-फोटोग्राफी हुई     |     अशोक गहलोत फिर दिखाएंगे जादू या सचिन पायलट बनेंगे मुख्यमंत्री, क्या होगा सोनिया गांधी का फैसला?     |     कबाड़ी दुकान में चोरी के बाद बदमाशों ने लगाई आग     |     ट्यूशन टीचर ने बच्ची को गर्म चिमटे से जलाया     |     धरती से निकली हैं धमतरी की मां विंध्यवासिनी, देश विदेश से दर्शन करने आते हैं श्रद्धालु     |     दिसंबर 2023 तक हर भारतीय के लिए 5जी लाएगी जियो : मुकेश अंबानी     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 8860606201