Breaking
रजिस्ट्री कराने आए लोग परेशान, जरनेटर भी सालों से खराब, कोई वैकल्पिक व्यवस्था भी नहीं टेंट हाउस व्यापार कैसे शुरू करें | How to Start Tent House or Stage Business in Hindi संचालक डॉ. मेहिया और कुलपति डॉ. तिवारी वीसीआई में सदस्य मनोनीत मुख्यमंत्री बघेल का माता चंडी मंदिर से भेंट-मुलाकात कार्यक्रम स्थल तक रोड शो के दौरान ग्रामीणों ने क... मुख्यमंत्री बघेल ने माता चंडी मंदिर में पूजा अर्चना कर प्रदेशवासियों की सुख, समृद्धि की कामना की धान और तिलहन की समर्थन मूल्य पर होगी खरीदी मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के लिए हर्षित पंडरिया विधानसभा के ग्राम कुकदुर की जनता मथुरा पुलिस के हाथ लगे संदिग्ध के फोटो, चोरों की तलाश में जुटी पुलिस इलेक्शन मोड में काग्रेस, इसलिए 'दागियों' पर अभी नो एक्शन डॉक्टरी-इंजीनियरिंग की पढ़ाई के साथ विद्यार्थियों को स्टार्टअप के लिए भी सहयोग की व्यवस्था – मुख्यमं...

नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर बना 210 मीटर लंबा स्काईवॉक, अब सीधे मेट्रो तक पहुंचना आसान

करीब दो साल के लंबे इंतजार के बाद नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर बन रहा स्काईवॉक लोगों की आवजाही के लिए तैयार हो चुका है। अब केवल कुछ छोटा-मोटा फिनिशिंग का काम ही बाकी रह गया है, जो हफ्ते भर में पूरा हो जाएगा। स्काईवॉक में लिफ्ट और एस्केलेटर्स लगाने का काम भी पूरा हो गया है। लाइटिंग और साइनेज आदि भी लग चुके हैं। सूत्रों के मुताबिक, इसी महीने इसे लोगों के लिए खोल दिया जाएगा। संभावना है कि डीएमआरसी के मैनेजिंग डायरेक्टर मंगू सिंह और रेलवे के अधिकारी मिलकर इसका उद्घाटन करेंगे।

जुलाई 2019 में इसकी टेंडर प्रक्रिया शुरू हुई थी और 2020 के अंत तक इस पर काम भी शुरू हो गया था। वैसे तो इसे महज 9 महीने में बनाकर तैयार कर लेने का लक्ष्य रखा गया था, लेकिन कोविड की वजह से इसे तैयार होने में दो साल लग गए। इसके कारण प्रोजेक्ट की लागत पर भी असर पड़ा। इस स्काईवॉक को बनाने की अनुमानित लागत 24 करोड़ आंकी गई थी, लेकिन अब बनकर तैयार होने तक यह लागत बढ़कर 30 करोड़ के पार पहुंच चुकी है। सबसे ज्यादा दिक्कत बार-बार लगने वाले लॉकडाउन के कारण आई, जिससे न केवल मटीरियल की सप्लाई प्रभावित हुई, बल्कि लेबर मिलने में भी दिक्कत आई।

यह स्काईवॉक एक छोर पर एयरपोर्ट लाइन के नई दिल्ली मेट्रो स्टेशन के ऊपर बनी मल्टीलेवल पार्किंग से और दूसरे छोर पर नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के प्लैटफॉर्म नंबर-16 के फुट ओवरब्रिज से कनेक्टेड होगा, जहां से होकर लोग प्लेटफॉर्म नंबर-1 तक जा सकेंगे। बीच में तीन अलग-अलग पैसेज बनाए गए हैं, जहां से होकर लोग येलो लाइन के नई दिल्ली मेट्रो स्टेशन, रेलवे स्टेशन के बाहर बनी कार पार्किंग और ऑटो टैक्सी स्टैंड और डीटीसी के बस टर्मिनल पर आ-जा सकेंगे। करीब 210 मीटर लंबा यह स्काईवॉक पूरे भवभूति मार्ग और अजमेरी गेट की तरफ बने नई दिल्ली रेलवे स्टेशन परिसर के ऊपर बनाया गया है। दृष्टिहीन लोगों के लिए इस पर खास तरह की टेक्टाइल फ्लोरिंग लगाई गई है। ग्लास पैनल के बाहर की तरफ गोलाकार स्ट्रक्चर बनाया गया है, जो रात में खास तरह की रंग-बिरंग एलईडी लाइटों से जगमगाएगा। यात्रियों की सहूलियत के लिए इस स्काईवॉक पर अलग से मेट्रो की टोकन वेंडिंग मशीनें, टिकट काउंटर और वॉशरूम की व्यवस्था भी की जा रही है एयरपोर्ट मेट्रो लाइन से आने-जाने वाले यात्रियों को लगेज रखने में लिए ट्रॉली भी इस स्काईवॉक पर ही मिल जाएगी। इसके लिए इस पर एक ट्रॉली बे बनाई जा रही है। साथ ही सुरक्षा और मेंटेनेंस के लिए सभी एंट्री-एग्जिट पॉइंट्स पर स्टील के गेट्स लगाए गए हैं।

रजिस्ट्री कराने आए लोग परेशान, जरनेटर भी सालों से खराब, कोई वैकल्पिक व्यवस्था भी नहीं     |     टेंट हाउस व्यापार कैसे शुरू करें | How to Start Tent House or Stage Business in Hindi     |     संचालक डॉ. मेहिया और कुलपति डॉ. तिवारी वीसीआई में सदस्य मनोनीत     |     मुख्यमंत्री बघेल का माता चंडी मंदिर से भेंट-मुलाकात कार्यक्रम स्थल तक रोड शो के दौरान ग्रामीणों ने किया जोरदार स्वागत     |     मुख्यमंत्री बघेल ने माता चंडी मंदिर में पूजा अर्चना कर प्रदेशवासियों की सुख, समृद्धि की कामना की     |     धान और तिलहन की समर्थन मूल्य पर होगी खरीदी     |     मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के लिए हर्षित पंडरिया विधानसभा के ग्राम कुकदुर की जनता     |     मथुरा पुलिस के हाथ लगे संदिग्ध के फोटो, चोरों की तलाश में जुटी पुलिस     |     इलेक्शन मोड में काग्रेस, इसलिए ‘दागियों’ पर अभी नो एक्शन     |     डॉक्टरी-इंजीनियरिंग की पढ़ाई के साथ विद्यार्थियों को स्टार्टअप के लिए भी सहयोग की व्यवस्था – मुख्यमंत्री चौहान     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 8860606201