मुश्किल समय में हमेशा साथ देती हैं ये 4 चीजें, जानिए क्या कहती है चाणक्य नीति

आचार्य चाणक्य एक श्रेष्ठ विद्वान तो थे ही साथ ही वे एक अच्छे शिक्षक भी थे। इन्होंने विश्वप्रसिद्ध तक्षशिला विश्वविद्यालय से शिक्षा ग्रहण की और वहीं पर आचार्य के पद पर विद्यार्थियों का मार्गदर्शन भी किया।

ये एक कुशल कूटनीतिज्ञ, रणनीतिकार और अर्थशास्त्री भी थे। आचार्य चाणक्य ने अपने जीवन में विषम से विषम परिस्थितियों का सामना किया था परंतु कभी हार नहीं मानी और अपने लक्ष्य को प्राप्त किया। अगर कोई व्यक्ति की आचार्य चाणक्य की बातों का अनुसरण अपने जीवन में करता है, तो वह जीवन में कभी गलती नहीं करेगा और सफल मुकाम पर पहुंच सकता है। इनके द्वारा लिखे गए नीतिशास्त्र में ऐसी चार चीजों का जिक्र है, जो मुश्किल समय में हमेशा काम आती हैं। आइए जानते हैं कौन-सी हैं वह 4 चीजें।

विद्या से बड़ा कोई धन नहीं
आचार्य चाणक्य के नीति शास्त्र के अनुसार विद्या एक ऐसा धन है जिसे न ही कोई चुरा सकता है और न ही इसे कभी कोई छीन सकता है। विद्या या ज्ञान जितना बांटो यह उतना ही बढ़त है। यदि मनुष्य कभी किसी तकलीफ या मुश्किल में हैं तो ज्ञान ही उसके काम आता है और कठिन से कठिन समय आपको पार लगाता है। आचार्य चाणक्य के अनुसार विद्या एक गुप्त धन है और यदि आप में कोई हुनर है या किसी चीज का भरपूर ज्ञान है तो आप धन आसानी से कमा सकते हैं और अपनी मुश्किलों को दूर कर सकते हैं।

अच्छी संगति
चाणक्य नीति के अनुसार अच्छे मनुष्यों की संगति में रहने वाला मनुष्य बेहद भाग्यशाली होता है। वह किसी भी परिस्थिति का डट कर सामना कर सकता है। और कोई भी मुश्किल आने पर अपना धैर्य नहीं खोता। यही कारण हैं वह शांति से अपना जीवन व्यतीत करता है। आचार्य चाणक्य के अनुसार अच्छे सज्जनों की संगति से मनुष्य में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है और उसके चेहरे पर एक तेज दिखाई देता है।

अच्छा स्वास्थ्य
आचार्य चाणक्य के अनुसार यदि व्यक्ति का स्वास्थ्य अच्छा होगा तो वह किसी भी समस्या का सामना आसानी से कर लेगा। दरअसल स्वस्थ शरीर में ही तीव्र बुद्धि का निवास होता है। तो जो भी व्यक्ति स्वस्थ होगा वो मुश्किल समय में अपनी बुद्धि का सही इस्तेमाल कर समस्या से बाहर निकाल सकता है। और यदि ऐसा नहीं होता है मनुष्य का मन किसी भी काम में नहीं लगेगा और वह नकारात्मक भावना से ग्रसित होता चला जाएगा।

धन संचय जरूरी
चाणक्य नीतिशास्त्र के अनुसार जब मनुष्य कोई मुश्किल में होता है तो अक्सर ऐसे समय में हर कोई साथ छोड़ देता है। लेकिन धन ही आपका सच्चा मित्र है। जब कोई भी साथ नहीं देता तो ऐसे समय में जोड़ा गया धन ही काम आता है। और आजकल जब तक आपके पास धन होगा तभी सब आपके साथ खड़े होंगे वरना सब आपका साथ छोड़ देंगे। इसलिए मुश्किल समय के लिए धन का संचय अवश्य करें।

राज्य सरकार ने सबका साथ सबका विकास पर काम किया : वित्त मंत्री देवड़ा     |     मुख्यमंत्री चौहान ने बॉटल ब्रश, आम और कचनार के पौधे लगाए     |     चमकाने के बहाने जालसाज फिर जेवर लेकर हुए फरार     |     मुख्यमंत्री चौहान ने संत रविदास की जयंती पर नमन किया     |     जनता की जिन्दगी बदलने का अभियान है विकास यात्रा : मुख्यमंत्री चौहान     |     परवेज मुशर्रफ का 79 वर्ष की उम्र में हुआ निधन     |     अब 15 मिनट में खुलेंगे किसानों के खाते     |     कराची में अहमदी समुदाय की मस्जिद में उपद्रवियों ने की तोड़फोड़     |     भाषा और धर्म के आधार पर देश को बांटा जा रहा : कमलनाथ     |     कर्नाटक में कांग्रेस ने ‘प्रजा ध्वनि यात्रा’ शुरू की     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 8860606201