Breaking
RBI ने रेपो रेट में बढ़ोतरी का किया एलान, होम लोन की EMI में होगा इजाफा.. सिवनी में कार को ट्रक ने टक्कर मारी, 4 की मौत वरुण ग्रोवर द्वारा निर्देशित 'ऑल इंडिया रैंक' का हुआ इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ रॉटरडैम में वर्ल्ड ... LIC का पैसा अडानी की कंपनी में क्यों डाला गया? PM के साथ क्या रिश्ता है? : लोकसभा में प्रधानमंत्री म... कुछ पार्टियां बाल विवाह के नाम पर साम्प्रदायिकता फैलाने की कोशिश कर रही हैं : एनसीपीसीआर चीफ दिल्ली हाईकोर्ट ने महिला कैदी के वर्जिनिटी टेस्ट को माना असंवैधानिक, जानें क्या कहा? संसद में अचानक सोनिया गांधी की बिगड़ी तबीयत, मां को बेचैन होते देख राहुल गांधी ने पिलाया पानी बाबा भोलेनाथ के दर्शन का बना रहे हैं मन तो इन शिव मंदिरों में जरूर जाएं कर्नाटक देश की लगभग 50 फीसदी नवीकरणीय ऊर्जा उत्पन्न करता है : बोम्मई केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ते में चार फीसदी की बढ़ोतरी कर सकती है सरकार

मानसिक रूप से थे परेशान; घर के ग्राउंड फ्लोर पर गमछे से लगाया फंदा

पानीपत: हरियाणा के पानीपत शहर के सेक्टर 18 में एक मकान में सीनियर एडवोकेट ने संदिग्ध परिस्थितियों में फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। परिजनों के मुताबिक आत्महत्या का कारण उनकी मानसिक परेशानी है। एडवोकेट बीती रात परिवार के साथ सोए थे।सुबह परिजन उठे तो उन्हें घर के ग्राउंड फ्लोर के कमरे में फंदे पर लटके हुए मिले। घटना की सूचना पुलिस को दी गई। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और जरूरी साक्ष्य जुटाकर शव को सिविल अस्पताल भिजवाया। जहां परिजनों के बयानों के आधार पर आगामी कार्रवाई शुरू कर दी।तीन बच्चों का पिता था, 22 सालों से कर रहे वकालत की प्रेक्टिससेक्टर 13-17 थाना पुलिस के अनुसार सेक्टर 18 में रहने वाले ईश्वर सिंह सरोहा (53) ने घर में ही फंदा लगाकर आत्महत्या की है। पुलिस ने बताया कि सरोहा जिला बार एसोसिएशन में पिछले करीब 22 सालों से वकालत की प्रैक्टिस कर रहे हैं। वह तीन बच्चों के पिता थे।जिनमें दो बेटियां चंडीगढ़ पढ़ाई कर रही है, जबकि 20 वर्षीय बेटा रोनक आगामी एक-दो माह के भीतर कनाडा स्टडी बेस पर जाने वाला है पुलिस ने बताया कि सेक्टर 18 के जिस मकान में एडवोकेट रहते थे, उसके ग्राउंड फ्लोर पर किराएदार रहते थे, जो कि कुछ ही दिनों पहले मकान खाली करके गए हैं। घर के पहली मंजिल पर एडवोकेट परिवार समेत रहते हैं।शनिवार रात परिवार संग सो गए थेबीती रात सरोहा परिवार के साथ खाना खाकर सो गया था। सुबह 7 बजे परिजन उठे और नीचे आए तो उन्होंने देखा कि नीचे ईश्वर सिंह ने फंदा पर लटका हुआ है। उन्होंने गमछे से फंदा लगाया है। परिजनों ने बताया है कि वह पिछले काफी दिनों से मानसिक रूप से परेशान चल रहे थे। उनका रोहतक PGI से इलाज भी चल रहा था। संदिग्ध परिस्थितियों में उन्होंने फंदा लगाकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली।

RBI ने रेपो रेट में बढ़ोतरी का किया एलान, होम लोन की EMI में होगा इजाफा..     |     सिवनी में कार को ट्रक ने टक्कर मारी, 4 की मौत     |     वरुण ग्रोवर द्वारा निर्देशित ‘ऑल इंडिया रैंक’ का हुआ इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ रॉटरडैम में वर्ल्ड प्रीमियर     |     LIC का पैसा अडानी की कंपनी में क्यों डाला गया? PM के साथ क्या रिश्ता है? : लोकसभा में प्रधानमंत्री मोदी पर गरजे राहुल गांधी     |     कुछ पार्टियां बाल विवाह के नाम पर साम्प्रदायिकता फैलाने की कोशिश कर रही हैं : एनसीपीसीआर चीफ     |     दिल्ली हाईकोर्ट ने महिला कैदी के वर्जिनिटी टेस्ट को माना असंवैधानिक, जानें क्या कहा?     |     संसद में अचानक सोनिया गांधी की बिगड़ी तबीयत, मां को बेचैन होते देख राहुल गांधी ने पिलाया पानी     |     बाबा भोलेनाथ के दर्शन का बना रहे हैं मन तो इन शिव मंदिरों में जरूर जाएं     |     कर्नाटक देश की लगभग 50 फीसदी नवीकरणीय ऊर्जा उत्पन्न करता है : बोम्मई     |     केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ते में चार फीसदी की बढ़ोतरी कर सकती है सरकार     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 8860606201