Breaking
फैक्ट्री में काम करते टूटा था हाथ, लगते ही मां दुर्गा को दोनों हाथों से भेंट किया नारियल प्रशिक्षण प्राप्त युवाओं को दिया गया प्रमाण पत्र, युवाओं के उज्जवल भविष्य दी गाई शुभकामना डिटेक्टिव स्टाफ ने बसंत विहार के पास पकड़े, पिस्तौल और कारतूस बरामद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने केंद्र पर साधा निशाना यूएस वेकेशन से वापस लौटे आमिर खान अवैध संबंधों के शक में गड़ासे से काटकर की हत्या छत्तीसगढ़ :  बर्थडे पार्टी के नाम पर होटल में चल रहा था देह व्यापार बलरामपुर में हुई खेलकूद प्रतियोगिता, खिलाड़ियों ने दिखाई प्रतिभा इलेक्ट्रॉनिक्स कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड में 284 पदों पर निकली भर्ती गाजियाबाद के गुलधर स्टेशन पर पूरा हुआ काम, 7 पॉइंट में पढ़िए एक्सकेलेटर की खूबियां

उत्तर प्रदेश के कन्नौज में बना परफ्यूम न्यूयॉर्क में हुआ लॉन्च; लौंग, इलायची, जायफल जैसी कई चीजों से हुआ तैयार

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के कन्नौज में बना परफ्यूम न्यूयॉर्क में लॉन्च किया गया है। न्यूयॉर्क में भारत के महावाणिज्य दूतावास रणधीर जायसवाल ने इस ‘मेड इन इंडिया’ परफ्यूम को ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ कार्यक्रम के हिस्से के रूप में ‘वैलेंटाइन डे’ के मौके पर लॉन्च किया गया। रणधीर जायसवाल ने कहा, “यह संभवत: पहली बार है कि आपके पास कन्नौज (यूपी) से भारतीय इत्र है, वह भी ऐसे समय में जब हम भारत की आजादी के 75 साल मना रहे हैं।”

परफ्यूम बनाने वाली कंपनी जिघाराना ने कहा कि भारतीय सांस्कृतिक शख्सियत और निडर उद्यमी विकास खन्ना के साथ उनके पहले परफ्यूम के लिए काम करके बेहद खुशी हो रही है। जिघाराना के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) स्वप्निल पाठक शर्मा ने कहा, “यहां न्यूयॉर्क में उत्पाद लॉन्च करना सम्मान की बात है। एक छोटे से शहर से आना, यह एक सपने के सच होने जैसा है। अपने शहर को इस तरह के वैश्विक मंच पर पेश करना, खुशी की बात है।

कंपनी ने अपनी प्रेस विज्ञप्ति में कहा, “जिघाराना का नया इत्र ‘विकास खन्ना’ लौंग, इलायची, जायफल, चंदन, चमेली और गुलाब जैसे तत्वों का एक अनूठा मिश्रण है, जो सदियों से भारत की अनूठी महक को परिभाषित करता आया है।” जिघाराना के सीईओ ने कहा कि कंपनी उनके गृहनगर “भारत की इत्र राजधानी” कन्नौज को समर्पित एक इत्र भी लॉन्च करेगी।

प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया, “हमारी सभ्यता के उद्गम स्थल के करीब पवित्र मां गंगा के पास स्थित “भारत की इत्र राजधानी” कन्नौज का यह नया उत्पाद अतुल्य भारत के सार को पकड़ने का हमारा विनम्र प्रयास है। संयोग से, जिघाराना की मूल कंपनी का 1911 से इत्र बनाने का पारिवारिक इतिहास रहा है।”

इत्र निर्माता ने कहा कि उन्होंने शुद्ध गुलाब के तेल जैसी कीमती सामग्री का उपयोग किया है जो उत्पन्न करने के लिए संसाधन और श्रम दोनों लगते हैं। 20 ग्राम गुलाब के तेल को बनाने में लगभग 100 किलोग्राम फूल लगते हैं।

कंपनी ने भारत के इतिहास और संस्कृति का प्रतिनिधित्व करने वाली अधिक विशिष्ट सुगंधों को पेश करने योजना बनाई है। इसके अलावा, ब्रांड सुगंधित मोमबत्तियों के बाजार में भी अवसरों को तलाशना चाहता है।

फैक्ट्री में काम करते टूटा था हाथ, लगते ही मां दुर्गा को दोनों हाथों से भेंट किया नारियल     |     प्रशिक्षण प्राप्त युवाओं को दिया गया प्रमाण पत्र, युवाओं के उज्जवल भविष्य दी गाई शुभकामना     |     डिटेक्टिव स्टाफ ने बसंत विहार के पास पकड़े, पिस्तौल और कारतूस बरामद     |     मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने केंद्र पर साधा निशाना     |     यूएस वेकेशन से वापस लौटे आमिर खान     |     अवैध संबंधों के शक में गड़ासे से काटकर की हत्या     |     छत्तीसगढ़ :  बर्थडे पार्टी के नाम पर होटल में चल रहा था देह व्यापार     |     बलरामपुर में हुई खेलकूद प्रतियोगिता, खिलाड़ियों ने दिखाई प्रतिभा     |     इलेक्ट्रॉनिक्स कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड में 284 पदों पर निकली भर्ती     |     गाजियाबाद के गुलधर स्टेशन पर पूरा हुआ काम, 7 पॉइंट में पढ़िए एक्सकेलेटर की खूबियां     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 8860606201