Breaking
चीन में घना कोहरा बना आफत, येलो अलर्ट जारी अडानी ग्रुप को लेकर केंद्र पर हमलावर ममता, बोलीं- अपने करीबियों को बचाने के लिए LIC के पैसे का हो रह... रबर कंपनी में लगी आग बुझाते समय फटा फायर एक्सटिंग्विशर सिलेंडर, 3 घायल CM योगी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में की बजट की तारीफ, कहा- इससे UP के विकास को मिलेगी गति आज भारत में एक निर्णायक सरकार है : राष्ट्रपति मुर्मू त्रिपुरा की आदिवासी पार्टी 16 फरवरी को होने वाले विधानसभा चुनाव में अकेले चुनाव लड़ेगी चुनावी साल में मोदी सरकार ने दिया जनता को तोहफा बाइक की टक्कर से छात्र गम्भीर रूप से घायल इस दिन नाखून काटने से चमकती है किस्मत, जीवन में मिलती है तरक्की, समृद्धि व पैसा शहडोल मे पेड़ काटते वक्त पलटी जेसीबी, बाल-बाल बचे लोग

Mokshda Ekadashi: इस दिन रखा जाएगा मोक्षदा एकादशी का व्रत, इस विधि से करें पूजा तो होगी शुभ फल की प्राप्ति

Mokshda Ekadashi 2022: हर साल मार्गशीर्ष महीने के शुक्ल पक्ष की एकादशी को मोक्षदा एकादशी का व्रत रखा जाता है. इस बार यह व्रत 3 दिसंबर को रखा जाएगा. इस दिन कुछ नियमों का जरूर पालन करना चाहिए.

Mokshda Ekadashi Puja Vidhi: मोक्षदा एकादशी के दिन व्रत रखकर भगवान विष्णु की पूजा करने से जीवन के कष्टों से छुटकारा मिलता है और मोक्ष की प्राप्ति होती है. मोक्षदा एकादशी का व्रत हर साल मार्गशीर्ष महीने के शुक्ल पक्ष की एकादशी को रखा जाता है. इस साल यह तारीख 3 दिसंबर के दिन पड़ रही है. इन दिन व्रत रखने के साथ कुछ बातों का ध्यान रखना बेहद जरूरी होता है, वरना व्रत का फल प्राप्त नहीं होता है. वहीं, इस दिन विधि-विधान से पूजा भी की जानी चाहिए.

नियम 

मोक्षदा एकादशी के दिन व्रत रखने से भगवान विष्णु प्रसन्न होते हैं और वैकुंठ में जगह की प्राप्ति होती है. इस दिन व्रत करने के साथ ही कुछ नियमों का पालन करना जरूरी होता है. मोक्षदा एकादशी के दिन मांसाहार का सेवन नहीं करना चाहिए.

भोजन

इस दिन बिल्कुल सात्विक भोजन करना चाहिए. इस कंद, फल खा सकते हैं. वहीं, प्याज, लहसुन, मसूर की दाल, चावल, बैंगन को हाथ नहीं लगाना चाहिए और न ही किसी भी तरह के भोजन में इसका इस्तेमाल करना चाहिए. इस दिन भगवान विष्णु के मंत्रों का जाप करें और कथा सुनें.

पूजा विधि

मोक्षदा एकादशी के दिन सुबह जल्दी उठें. इसके बाद स्नान करने के बाद घर के मंदिर में दीप जलाएं. भगवान विष्णु का गंगा जल से अभिषेक करें और तुलसी, फूल अर्पित करें. जो लोग व्रत रखना चाहते हैं तो इसका संकल्प लें. इसके बाद भगवान को भोग लगाएं और साथ ही मां लक्ष्मी की पूजा भी करें. इसके बाद आरती करें.

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. )

चीन में घना कोहरा बना आफत, येलो अलर्ट जारी     |     अडानी ग्रुप को लेकर केंद्र पर हमलावर ममता, बोलीं- अपने करीबियों को बचाने के लिए LIC के पैसे का हो रहा इस्तेमाल     |     रबर कंपनी में लगी आग बुझाते समय फटा फायर एक्सटिंग्विशर सिलेंडर, 3 घायल     |     CM योगी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में की बजट की तारीफ, कहा- इससे UP के विकास को मिलेगी गति     |     आज भारत में एक निर्णायक सरकार है : राष्ट्रपति मुर्मू     |     त्रिपुरा की आदिवासी पार्टी 16 फरवरी को होने वाले विधानसभा चुनाव में अकेले चुनाव लड़ेगी     |     चुनावी साल में मोदी सरकार ने दिया जनता को तोहफा     |     बाइक की टक्कर से छात्र गम्भीर रूप से घायल     |     इस दिन नाखून काटने से चमकती है किस्मत, जीवन में मिलती है तरक्की, समृद्धि व पैसा     |     शहडोल मे पेड़ काटते वक्त पलटी जेसीबी, बाल-बाल बचे लोग     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 8860606201