Breaking
3 लाख 20 हजार रुपए जीते; कुशाभाऊ ठाकरे विश्वविद्यालय से की है पत्रकारिता की पढ़ाई वाराणसी, दिल्ली और बेंगलुरु एयरपोर्ट पर पैसेंजर का चेहरा ही होगा बोर्डिंग पास आप के बाद अब कांग्रेस ने लिखकर दिया गुजरात में आप को केवल ‘शून्य’ मिलेगा पुलिस की लोगों से अपील- एड्स संक्रमित मरीज से नहीं करें भेदभाव बस्ती में जल्द शुरू होगा एमआरआई जॉच...अब नहीं जाना पड़ेगा लखनऊ या गोरखपुर बिना बेहोश किए हाथ-पैर बांधकर किया ऑपरेशन पाकिस्तान में कोयला खदान में विस्फोट से 9 मजदूरों की मौत शहर के फक्करशाह चौक पर समाजसेवी मनीष चौधरी ने की सर्व धर्म एकता सभा | Social worker Manish Chowdhary... Rashtrapati Bhavan Visit: आम जनता के लिए आज से खुला राष्ट्रपति भवन डेमोक्रेट ने अपने हाउस कॉकस के नेता के रूप में अफ्रीकी अमेरिकी को चुना

पोस्टर में ममता बनर्जी को ‘दुर्गा’ और पीएम मोदी को ‘महिषासुर दिखाने पर बवाल 

कोलकाता । बंगाल की 108 नगरपालिकाओं का निकाय चुनाव 27 फरवरी को होगा, जबकि मतगणना 2 मार्च को होगी। राज्य चुनाव आयोग की तरफ से इसकी जानकारी दी गई है। लेकिन उससे पहले विवादित पोस्टर से बवाल खड़ा हो गया है। बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को ‘दुर्गा’ और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘महिषासुर’ दिखाने वाले पोस्टर ने राज्य में विवाद खड़ा कर दिया। भाजपा नेता ने प्रधानमंत्री और सनातन धर्म का अपमान बताकर कहा कि पार्टी मामले को लेकर चुनाव आयोग से संपर्क करेगी। पोस्टर पश्चिम बंगाल जिले के मदनापुर में लगाया गया था।
पोस्टर में ममता को देवी ‘दुर्गा के रूप में दिखाया गया है, जबकि पीएम मोदी और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह को महिषासुर के रूप में दिखाया गया है, जो हिंदू पौराणिक कथाओं में एक राक्षस है। पोस्टर में विपक्षी दलों को बकरियों के रूप में भी दिखाया गया है, जिसमें लिखा है कि अगर किसी और ने उन्हें (विपक्षी दलों) को वोट दिया,तब उनकी बलि दी जाएगी। इससे मदनापुर जिले में हड़कंप मच गया है। स्थानीय भाजपा नेता विपुल आचार्य ने कहा कि नेताओं को देवता के रूप में दिखाना सनातन धर्म का अपमान है। उन्होंने कहा, ‘यह हमारे प्रधानमंत्री और गृह मंत्री का भी अपमान है। विपुल आचार्य ने कहा कि भाजपा इसकी शिकायत चुनाव आयोग (ईसी) से करेगी।
टीएमसी नेता अनिमा साहा जिले के वार्ड नंबर 1 से पार्टी की उम्मीदवार हैं। हालांकि पूरे मामले पर टीएमसी नेता ने इससे संबंधित जानकारी नहीं होने का दावा किया है। अनिमा साहा ने कहा कि उन्हें यह भी नहीं पता कि यह पोस्टर किसने लगाया है। उनके मुताबिक गलत काम किया गया है। अनिमा साहा ने कहा,अगर मुझे इस बारे में पता होता,तब मैं कभी भी इस तरह के पोस्टर इलाके में नहीं लगने देती।”

3 लाख 20 हजार रुपए जीते; कुशाभाऊ ठाकरे विश्वविद्यालय से की है पत्रकारिता की पढ़ाई     |     वाराणसी, दिल्ली और बेंगलुरु एयरपोर्ट पर पैसेंजर का चेहरा ही होगा बोर्डिंग पास     |     आप के बाद अब कांग्रेस ने लिखकर दिया गुजरात में आप को केवल ‘शून्य’ मिलेगा     |     पुलिस की लोगों से अपील- एड्स संक्रमित मरीज से नहीं करें भेदभाव     |     बस्ती में जल्द शुरू होगा एमआरआई जॉच…अब नहीं जाना पड़ेगा लखनऊ या गोरखपुर     |     बिना बेहोश किए हाथ-पैर बांधकर किया ऑपरेशन     |     पाकिस्तान में कोयला खदान में विस्फोट से 9 मजदूरों की मौत     |     शहर के फक्करशाह चौक पर समाजसेवी मनीष चौधरी ने की सर्व धर्म एकता सभा | Social worker Manish Chowdhary organized Sarva Dharma Ekta Sabha at Fakkarshah Chowk in the city     |     Rashtrapati Bhavan Visit: आम जनता के लिए आज से खुला राष्ट्रपति भवन     |     डेमोक्रेट ने अपने हाउस कॉकस के नेता के रूप में अफ्रीकी अमेरिकी को चुना     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 8860606201