Breaking
मांगों को लेकर 15 दिन का अल्टीमेटम; अमल न होने पर आर-पार की लड़ाई फिल्म 'The Kashmir Files' पर बयान देना इस्राइली फिल्म मेकर को पड़ा भारी नगर निगम सफाई इंस्पेक्टर को दी गई गालियां, नाराज कर्मचारियों ने पुलिस चौकी घेरा सात साल बाद बच्ची को मिला न्याय,दुष्कर्म आरोपी को 20 साल की कैद.. 573 मीटर ऊंची पहाड़ी पर रोकी पेड़ों की कटाई, अब इस पहाड़ी पर हरे-भरे हैं डेढ़ लाख से ज्यादा पेड़ नाराज मुख्यमंत्री की लगातार 6 पोस्ट, ईडी-आईटी वाले अफसरों को मुर्गा बनाकर पीट रहे हैं, अब शिकायत मिल... रिफ्लेक्टर जैकेट, एल्कोमीटर होने के बाद भी रात में ट्रैफिक पुलिस सड़कों से हो जाती है गायब दिन का तापमान जहां 28 डिग्री, न्यूनतम 8.1 डिग्री पर पहुंचा, सर्द उत्तरी हवाओं से दिन में भी बढ़ी ठिठु... अलीगढ़ में जिला बॉडी बिल्डिंग एसोसिएशन ने कराई प्रतियोगिता, प्रदेश के 200 से ज्यादा युवा हुए शामिल मध्यप्रदेश के अलग-अलग क्षेत्रों से गुजर रही यात्रा, भिलाई नगर विधायक निभा रहे अहम भूमिका

पांच माह पहले ही खरीफ फसलों की तैयारी में जुटी सरकार

भोपाल । प्रदेश में किसानों को आत्मनिर्भर बनाने और खाद-बीज की होने वाली किल्लत को दूर करने के लिए शिवराज सरकार जुट गई है। सरकार का पूरा फोकस इस बात पर है कि किसानों को खाद की समस्या का सामना न करना पड़े। इसलिए सरकार ने जुलाई में होने वाली खरीफ की बुवाई के लिए अभी से तैयारी में जुट गई है। सरकार का पूरा प्रयास है कि प्रदेश को सात बार कृषि कर्मण अवार्ड दिलाने वाले किसानों को समय पर खाद मिल सके, ताकि न किसान परेशान हो और खेती को लाभ का धंधा बनाया जा सके।
गौरतलब है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मप्र को आत्मनिर्भर बनाने के अभियान में जुटे हुए हैं। इसके लिए किसानों को आत्मनिर्भर बनाया जा रहा है। किसान तभी आत्मनिर्भर बनेंगे जब उनको समय पर खाद-बीज और पानी मिल पाएगा। मुख्यमंत्री के दिशा-निर्देश पर खाद-बीज और पानी की अग्रिम व्यवस्था के प्रयास शुरू हो गए हैं। किसानों को समय पर और पर्याप्त मात्रा में खाद मिल जाए, इसके लिए केंद्र सरकार ने राज्य के प्रस्ताव पर सहमति दे दी है। इस बार 13 लाख टन यूरिया, 10 लाख टन डीएपी और ढाई लाख टन एनपीके की आपूर्ति पूरे सीजन में केंद्र सरकार करेगी। यह पिछले साल की तुलना में अधिक है। इसके साथ ही सरकार ने अपने स्तर से अतिरिक्त खाद की व्यवस्था भी बनाई है।
8 लाख टन खाद का अग्रिम भंडारण
प्रदेश में प्रतिवर्ष सीजन के समय खाद की समस्या सामने आती है। प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियों के ऊपर काफी दबाव भी बनता है क्योंकि किसानों को 70 प्रतिशत खाद इसी माध्यम से उपलब्ध होती है। इसे देखते हुए सरकार ने इस बार आठ लाख मीट्रिक टन खाद का अग्रिम भंडारण करने का निर्णय लिया हैै। इसमें सरकार अपने संसाधनों से चार लाख टन यूरिया, तीन लाख टन डीएपी और एक लाख टन कांप्लेक्स खाद का भंडारण करेगी। यह खाद किसानों को बिना ब्याज लिए सीजन प्रारंभ होने से पहले दी जाएगी। इसके साथ ही केंद्र सरकार को खरीफ सीजन के लिए खाद आपूर्ति का जो प्रस्ताव भेजा था, उस पर सहमति बन गई है। अपर मुख्य सचिव कृषि अजीत केसरी ने गतदिनों केंद्र सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक की। इसमें तय हुआ कि केंद्र सरकार 13 लाख मीट्रिक टन यूरिया, 10 लाख मीट्रिक टन डीएपी और ढाई लाख टन एनपीके की आपूर्ति पूरे सीजन में करेगी। पिछले साल 12.16 लाख टन यूरिया, छह लाख तीन हजार टन डीएपी और एक लाख 63 हजार टन एनपीके की आपूर्ति की गई थी।
दो महीने पहले उपलब्ध कराई जाएगी खाद
सहकारी समितियों को खरीफ फसलों की बोवनी प्रारंभ होने के पहले मई में खाद उपलब्ध कराई जाएगी। आपूर्ति पिछले साल की खपत के आधार पर की जाएगी। इसके लिए कृषि विभाग ने समितियों से पिछले साल की बिक्री की जानकारी बुलाकर कार्ययोजना बनाई है। कृषि विभाग के अधिकारियों ने बताया कि प्रदेश में अभी पांच लाख मीट्रिक टन से अधिक खाद का भंडारण है। इसमें दो लाख 25 हजार मीट्रिक टन यूरिया, 70 हजार टन डीएपी, दो लाख टन सिंगल सुपर फास्फेट और 40 हजार टन एनपीके है। बीते रबी सीजन में किसानों को 16.50 लाख मीट्रिक टन यूरिया, पांच लाख 80 हजार मीट्रिक टन डीएपी, छह लाख 50 हजार मीट्रिक टन सिंगल सुपर फास्फेट और साढ़े तीन लाख मीट्रिक टन एनपीके की आपूर्ति की गई है।

मांगों को लेकर 15 दिन का अल्टीमेटम; अमल न होने पर आर-पार की लड़ाई     |     फिल्म ‘The Kashmir Files’ पर बयान देना इस्राइली फिल्म मेकर को पड़ा भारी     |     नगर निगम सफाई इंस्पेक्टर को दी गई गालियां, नाराज कर्मचारियों ने पुलिस चौकी घेरा     |     सात साल बाद बच्ची को मिला न्याय,दुष्कर्म आरोपी को 20 साल की कैद..     |     573 मीटर ऊंची पहाड़ी पर रोकी पेड़ों की कटाई, अब इस पहाड़ी पर हरे-भरे हैं डेढ़ लाख से ज्यादा पेड़     |     नाराज मुख्यमंत्री की लगातार 6 पोस्ट, ईडी-आईटी वाले अफसरों को मुर्गा बनाकर पीट रहे हैं, अब शिकायत मिली तो कार्रवाई     |     रिफ्लेक्टर जैकेट, एल्कोमीटर होने के बाद भी रात में ट्रैफिक पुलिस सड़कों से हो जाती है गायब     |     दिन का तापमान जहां 28 डिग्री, न्यूनतम 8.1 डिग्री पर पहुंचा, सर्द उत्तरी हवाओं से दिन में भी बढ़ी ठिठुरन, रात का तापमान स्थिर     |     अलीगढ़ में जिला बॉडी बिल्डिंग एसोसिएशन ने कराई प्रतियोगिता, प्रदेश के 200 से ज्यादा युवा हुए शामिल     |     मध्यप्रदेश के अलग-अलग क्षेत्रों से गुजर रही यात्रा, भिलाई नगर विधायक निभा रहे अहम भूमिका     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 8860606201