कोरोना के कम होते ही ,एम्स ने दी लाखों मरीजों को राहत

नई दिल्ली । दिल्ली में कोरोना के कम होते मामलों के बीच देश के सबसे बड़े अस्तपाल एम्स ने अपने यहां इलाज के लिए आने वाले लाखों मरीजों को बड़ी राहत दी है। उसने अब अस्तपाल में भर्ती होने और सर्जरी से पहले होने वाले कोरोना के परीक्षण को बंद करने की घोषणा कर दी है। इससे एक अनुमान है कि यहां इलाज के लिए देश के कोने-कोने से आ रहे लाखों मरीजों को बड़ी राहत मिलेगी।

महिला को इलाज न देने पर अस्पताल को नोटिस

वहीं, दिल्ली बाल अधिकार संरक्षण आयोग (डीसीपीसीआर) ने समय से पूर्व जन्म लेने वाले नवजात को उपचार देने से मना करने पर निजी अस्पताल को नोटिस जारी किया है। आयोग के अनुसार मामला चार फरवरी का है। महिला ने नवजात को जन्म दिया था। उसे चिकित्सीय देखरेख की सख्त जरूरत थी, लेकिन अस्पताल प्रशासन ने ईडब्ल्यूएस बेड खाली न होने का हवाला देकर उसे भर्ती करने से मना कर दिया। ईडब्ल्यूएस श्रेणी वाले मरीज से दाखिला प्रक्रिया को लेकर एक लाख रुपये की मांग की गई। यह अस्पताल मालवीय नगर में है। डीसीपीसीआर ने नोटिस में अस्पताल को उस दिन की फुटेज भी जमा कराने के निर्देश दिए हैं।

कटनी “पिपरहटा” का मां विंध्यवासिनी देवीधाम     |     बिहार की महिला अधिकारी ने सैनिटरी पैड के सवाल पर स्कूली छात्रा को दिया बेतूका जवाब     |     अमेरिका ने अपने नागरिकों से तुरंत रूस छोड़ने का किया आग्रह     |     जम्मू-कश्मीर के उधमपुर में रहस्यमय विस्फोट, दो घायल     |     कैसे हुई शारदीय नवरात्र की शुरुआत     |     तो आप खूब करेंगे यात्रा     |     व्यक्ति के पेट में मिले 63 चम्मच     |     नवरात्रि उपवास के दौरान रखें इन बातों का ध्यान     |     अमेरिका के अर्कासस में अस्पताल में गोलीबारी, एक व्यक्ति की मौत     |     इस प्रकार बनायें दिन को बेहतर     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 8860606201