Breaking
Beauty Tips : स्किन पर जादू की तरह काम करता है चुकंदर, बस इस तरह करें इस्तेमाल जेल में प्लानिंग, 7 दिन की रैकी के बाद की थी 35 लाख की लूट, 5 गिरफ्तार 300 गज प्लाट की रजिस्ट्री को लेकर था दबाव में, खेतों में पेड़ पर लटकता मिला शव डीएम ने यूनिसेफ के सहयोग से बनाई रणनीति, बोले- बच्चों के लिए टीकाकरण जरूरी आईएईए यूक्रेन में सभी परमाणु संयंत्रों में मजबूत करेगा अपनी उपस्थिति दिल्ली में ईमामों और मौलवियों को वेतन देते हैं केजरीवाल  कांग्रेस अध्यक्ष की टिप्पणी पर कहा- विनाश काले विपरीत बुद्धि चिटफंड कंपनी की आड़ में पैसा दोगुना करने का झांसा देकर फंसाते थे; डायरेक्टर गिरफ्तार खरीदारी करने के लिए आई थी बाजार, पर्स में थे साढ़े 7 हजार रुपए 20 साल जेल सहित 40 हजार जुर्माना लगाया, 10वीं की फर्जी मार्कशीट लगाकर बना था वनरक्षक

आपके पास पर्याप्त समय है, इसका सही उपयोग करे, कट एंड पेस्ट कर रिसर्च कार्य न करें

फरीदाबाद। इंडक्शन कार्यक्रम में संबोधन देते शिक्षाविद।लिंग्याज विद्यापीठ में नए शोधार्थियों के लिए इंडक्शन कार्यक्रम का आयोजन किया गया।लिंग्याज विद्यापीठ में नए शोधार्थियों के लिए इंडक्शन कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसमें विषय विशेषज्ञ के रूप में इंस्टिट्यूशन ऑफ इंजीनियर्स के चेयरमैन संदीप हांडा ने शोध करने वाले छात्रों को शोध प्रक्रिया के बारे में जानकारी दी। साथ ही छात्रों के व्यक्तित्व एवं विशेष गुणों से अवगत कराते हुए शोध के मंत्रों की व्याख्या की। इस दौरान छात्रों ने सेल्फ इंट्रोडक्शन देकर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। चेयरमैन डा. पिचेश्वर गड्डे ने सभी शोधार्थियों का स्वागत करते हुए कहा कि आपके पास पर्याप्त समय है और इसका भरपूर प्रयोग कीजिए लेकिन कट एंड पेस्ट कर रिसर्च कार्य न करें। अपना खुद का सर्वे करें। उन्होंने कहा रिसर्चर्स को यूनिवर्सिटी की ओर से सभी जरूरी सुविधाएं मिलेंगी। रिसर्चर्स भी ध्यान रखें कि उनका शोध समाज को भी फायदा पहुंचाए। वाइस चांसलर प्रो (डॉ) जीजी शास्त्री ने कहा कि शैक्षणिक गतिविधियों के साथ-साथ विद्यापीठ वैज्ञानिक स्वभाव, वैश्विक दक्षताओं व छात्रों के समग्र विकास के लिए विभिन्न गतिविधियों के माध्यम से सीखने के व्यापक अवसर प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है। डीन कॉपोरेट अफेयर प्रो (डॉ.) एसवीएवी प्रसाद ने कहा कि कैंपस में पढ़ाई बेहद गंभीरता के साथ कराई जाती है। छात्रों को विशेषज्ञ हर नवीन जानकारी देते हैं। साथ ही छात्रों के सर्वांगीण विकास के लिए समय-समय पर बाहरी कालेजों से भी विषय विशेषज्ञों को बुलाया जाता है, जिससे पीएचडी करने वाले छात्र-छात्राओं को शोध से जुड़ी हर जानकारी मिल सके। मंच संचालन रिसर्च एंड पीएचडी कोऑर्डिनेटर डॉ. तापसी नागपाल ने किया।

Beauty Tips : स्किन पर जादू की तरह काम करता है चुकंदर, बस इस तरह करें इस्तेमाल     |     जेल में प्लानिंग, 7 दिन की रैकी के बाद की थी 35 लाख की लूट, 5 गिरफ्तार     |     300 गज प्लाट की रजिस्ट्री को लेकर था दबाव में, खेतों में पेड़ पर लटकता मिला शव     |     डीएम ने यूनिसेफ के सहयोग से बनाई रणनीति, बोले- बच्चों के लिए टीकाकरण जरूरी     |     आईएईए यूक्रेन में सभी परमाणु संयंत्रों में मजबूत करेगा अपनी उपस्थिति     |     दिल्ली में ईमामों और मौलवियों को वेतन देते हैं केजरीवाल      |     कांग्रेस अध्यक्ष की टिप्पणी पर कहा- विनाश काले विपरीत बुद्धि     |     चिटफंड कंपनी की आड़ में पैसा दोगुना करने का झांसा देकर फंसाते थे; डायरेक्टर गिरफ्तार     |     खरीदारी करने के लिए आई थी बाजार, पर्स में थे साढ़े 7 हजार रुपए     |     20 साल जेल सहित 40 हजार जुर्माना लगाया, 10वीं की फर्जी मार्कशीट लगाकर बना था वनरक्षक     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 8860606201