Breaking
“भाषा” महज एक शब्द नहीं, संस्कृति का पर्याय है। यदि संस्कृति को बचाना है तो भाषा को बचाना होगा जन-जन को जोड़ें "महाकाल लोक" के लोकार्पण समारोह से : मुख्यमंत्री चौहान Women Business Idea- घर बैठे कम लागत में महिलायें शुरू कर सकती हैं यह बिज़नेस राज्यपाल उइके वर्धा विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित राष्ट्रीय संगोष्ठी में हुई शामिल, अंबेडकर उत्कृष्टता... विराट कोहली नहीं खेलेंगे अगला मुकाबला मनोरंजन कालिया बोले- करेंगे मानहानि का केस,  पूर्व मेयर राठौर  ने कहा दोनों 'झूठ दिआं पंडां कहा-बेटे का नाम आने के बावजूद टेनी ने नहीं दिया मंत्री पद से इस्तीफा करनाल में बिल बनाने की एवज में मांगे थे 15 हजार, विजिलेंस ने रंगे हाथ दबोचा स्कूल में भिड़ीं 3 शिक्षिकाएं, BSA ने तीनों को किया निलंबित दिल्ली से यूपी तक होती रही चेकिंग, औरैया में पकड़ा गया, हत्या का आरोप

रेलवे के लाखों कर्मचारियों के लिए बड़ी खुशखबरी! जानिए कब से मिलेगा नाइट ड्यूटी भत्ता

रेल मंत्रालय (Minry of Railways) के एक बड़े फैसले के बाद जिन रेलवे कर्मचारियों की बेसिक सैलरी 43,600 रुपये से ज्यादा है, उन्हें नाइट ड्यूटी अलाउंस (Night Duty Allowance) देना बंद कर दिया गया. रेलवे के इस फैसले से करीब 3 लाख से अधिक रेल कर्मी प्रत्‍यक्ष तौर पर प्रभावित हुए हैं.

नई दिल्‍ली: भारतीय रेल (Indian Railways) के लाखों कर्मचारियों क बड़ी खुशखबरी मिल सकती है. रेलवे की तरफ से नाइट ड्यूटी भत्ते (Night Duty Allowance) के नियमों में प में बड़ा फैसला लिया गया था, जिसके तहत 43,600 रुपये से ज्यादा बेसिक सैलरी वाले रेलवे कर्मियों को यह लाभ नहीं मिल रहा था. लेकिन, अब जल्दी ही उन्हें ये अलाउंस मिलना शुरू हो सकता है. दरअसल, यह मामला इस समय वित्‍त मंत्रालय के पास विचाराधीन है और रेल मंत्रालय की तरफ से इस मुद्दे का जल्‍द हल निकालने की गुजारिश की गई है. सूत्रों के अनुसार, जल्द इस पर सकारात्‍मक फैसला हो सकता है.

3 लाख रेलवे कर्मचारियों को लगा था झटका

दरअसल, रेल मंत्रालय (Minry of Railways) ने एक बड़े फैसले के बाद जिन रेलवे कर्मचारियों की बेसिक सैलरी 43,600 रुपये से ज्यादा है, उन्हें नाइट ड्यूटी अलाउंस (Night Duty Allowance) देना बंद कर दिया था. इस फैसले से करीब 3 लाख से अधिक रेल कर्मियों पर असर पड़ा. नाइट ड्यूटी भत्ता आवश्यक ट्रेन चलाने वाले ड्राइवरों, उसका संचालन करने वालों और मेंटनेंस आदि की ड्यूटी में लगे स्टाफ को दिया जाता है. 43600 रुपये बेसिक सैलरी से ऊपर वाले रेलकर्मियों के हितों को ध्‍यान में रखते हुए रेल संगठनों ने इसकी फिर से बहाली को लेकर मांग भी उठाई है.

रेलवे ने दी जानकारी

रेलवे बोर्ड के सचिव ने हाल ही में एक पत्र जारी करते हुये कहा है कि रेल मंत्रालय की तरफ से पहले भी इस मुद्दे को उठाया गया है. और फिर इसे वित्त मंत्रालय के व्यय विभाग के पास सहमति के लिए बोर्ड के दिनांक 9.9.2021 और 23 नवंबर 2021 के कार्यालय ज्ञापन के माध्यम से भेज दिया गया. सचिव की तरफ ने यह भी बताया कि व्यय विभाग ने दिनांक 16 दिसंबर 2021 के कार्यालय ज्ञापन की प्रति कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग को भेज दी है. इतना ही नहीं, इस मुद्दे पर डीओपीटी को एक रेफरेंस दिया गया है और डीओपीटी से जवाब का इंतजार है.

“भाषा” महज एक शब्द नहीं, संस्कृति का पर्याय है। यदि संस्कृति को बचाना है तो भाषा को बचाना होगा     |     जन-जन को जोड़ें “महाकाल लोक” के लोकार्पण समारोह से : मुख्यमंत्री चौहान     |     Women Business Idea- घर बैठे कम लागत में महिलायें शुरू कर सकती हैं यह बिज़नेस     |     राज्यपाल उइके वर्धा विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित राष्ट्रीय संगोष्ठी में हुई शामिल, अंबेडकर उत्कृष्टता केंद्र का भी किया शुभारंभ     |     विराट कोहली नहीं खेलेंगे अगला मुकाबला     |     मनोरंजन कालिया बोले- करेंगे मानहानि का केस,  पूर्व मेयर राठौर  ने कहा दोनों ‘झूठ दिआं पंडां     |     कहा-बेटे का नाम आने के बावजूद टेनी ने नहीं दिया मंत्री पद से इस्तीफा     |     करनाल में बिल बनाने की एवज में मांगे थे 15 हजार, विजिलेंस ने रंगे हाथ दबोचा     |     स्कूल में भिड़ीं 3 शिक्षिकाएं, BSA ने तीनों को किया निलंबित     |     दिल्ली से यूपी तक होती रही चेकिंग, औरैया में पकड़ा गया, हत्या का आरोप     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 8860606201