दिग्विजय सिंह ने रतलाम में कहा- 2023 का आखिरी चुनाव है, ईमानदारी से नहीं लड़े तो कांग्रेस कभी वापस नहीं आने वाली…

रतलाम  प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने कहा है कि 2023 में आखिरी चुनाव है। रतलाम दौरे के दौरान पार्टी वर्कर्स को अलग-अलग गुटों में खड़ा देख पूर्व CM नाराज हो गए। उन्होंने कार्यकर्ताओं को चेताते हुए कहा- सभी अलग-अलग खड़े हैं। इससे काम नहीं चलेगा। यह आखिरी चुनाव (विधानसभा) है…। मैं बता देता हूं आपको, अगर आप लोग ईमानदारी से चुनाव नहीं लड़े तो घर बैठिए आप सब…. फिर कांग्रेस वापस नहीं आने वाली …. कांग्रेस को काम करने के लिए वर्कर नहीं मिलेगा….। एक ग्रुप अलग मिलेगा, मेरा सिर खपाना भी बेकार है। कमलनाथ जी भी बेचारे कुछ नहीं कर पाएंगे। आप लोग आमने-सामने बात करने को तैयार नहीं हैं।

दिग्विजय सिंह शनिवार सुबह रतलाम सर्किट हाउस में थे। उनसे मिलने पहुंचे कांग्रेस कार्यकर्ता अलग-अलग गुट बनाकर खड़े थे। इस पर उन्होंने कार्यकर्ताओं को फटकार लगा दी। इस चर्चा का VIDEO बना रहे कार्यकर्ताओं को भी डांटा।

भगवान राम को बेच रही BJP और RSS

कार्यकर्ताओं से मुलाकात के बाद दिग्विजय सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में BJP और RSS पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि भाजपा, संघ, विहिप और बजरंग दल भगवान राम को बेच रहे हैं। धर्म का उपयोग राजनीतिक हथियार के रूप में नहीं होना चाहिए। कांग्रेस कभी धर्म के आधार पर वोट नहीं मांगती।

हिजाब घूंघट परंपरा अपनी-अपनी

हिजाब वाले मुद्दे पर सिंह ने कहा कि हर धर्म की परंपरा और अपनी मान्यताएं होती हैं। कोई घूंघट निकालता है, कोई सिर ढंकता है। पर्दा करता है। हिजाब और बुर्का दोनों अलग-अलग हैं। जब भी हम सरकार से हिसाब-किताब की बात करते हैं, तो वह हिजाब की बात करते हैं। यह ठीक नहीं है। सांप्रदायिक सद्भावना जरूरी है।

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 8860606201