Breaking
8 बिंदुओं पर पुलिसकर्मियों और अधिकारियों को शपथ दिलाई ज्यादा खून बह जाने से हुई थी मौत; दोषी प्रेमी को उम्रकैद की सजा काशी के मौसम का मिजाज बदला,सुबह कोहरा रहा अधिक, शाम में गलन छात्र संघ चुनाव निरस्त होने पर प्रदर्शन, छत से कूदे स्टूडेंट्स बोले- रामपुर में भाजपा की जीत से आजम के आतंक का अंत, अखिलेश-शिवपाल दिखावे के लिये अलग थे | Said- Aza... महू-नसीराबाद हाइवे पर जानलेवा गड्डे, ठेकेदार बोला- भूमिपूजन के बाद ही काम शुरू करेंगे भोपाल में लॉयल बुक डिपो में बुक्स, एसी और फर्नीचर जला आमिर खान ने अपने नए प्रोडक्शन ऑफिस में की कलश पूजा ईरान का प्रेस टीवी नेटवर्क बंद करने से पश्चिम के पाखंड का पता चलता है : ईरानी अधिकारी टेस्ट सीरीज में मोहम्मद शमी के स्थान पर इन खिलाड़ियों को मिल सकता है मौका

यूक्रेन के सूमी में अभी भी फंसे हैं करीब 700 छात्र भारत को रूस और यूक्रेन की प्रतिक्रिया का इंतजार

नई दिल्ली । लगभग 700 भारतीय नागरिक पूर्वी यूक्रेन के सूमी शहर में फंसे हुए हैं। रविवार को भीषण लड़ाई और गोलाबारी के बीच उनकी निकासी की व्यवस्था करने के प्रयासों में कोई सफलता नहीं मिली। मामले से परिचित लोगों ने कहा कि भारतीय नागरिक, जिनमें ज्यादातर छात्र हैं, वे सभी बंकरों और कैंपस में शरण लिए हुए हैं। यूक्रेन में स्थानीय संघर्ष विराम को लेकर भारत की ओर से पूछे गए जवाब पर रूस और यूक्रेन की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली है। दरअसल इससे पहले रूस और यूक्रेन ने शनिवार को संघर्ष विराम का ऐलान किया था। इसने मारियुपोल-वोल्नोवाखा में मानवीय कॉरिडोर बनाकर नागरिकों को सुरक्षित निकालने पर भी सहमति जताई थी। लेकिन इसका खासा फायदा मिलता नजर नहीं आ रहा है। पूर्वी यूक्रेन में फंसे भारतीय बाहर निकलने के इन रास्तों का इस्तेमाल नहीं कर पा रहे हैं। मामले से परिचित लोगों ने कहा कि भारतीय नागरिक, जिनमें ज्यादातर छात्र हैं, वे सभी बंकरों और कैंपस में शरण लिए हुए हैं। यूक्रेन में स्थानीय संघर्ष विराम को लेकर भारत की ओर से पूछे गए जवाब पर रूस और यूक्रेन की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली है। दरअसल इससे पहले रूस और यूक्रेन ने शनिवार को संघर्ष विराम का ऐलान किया था। इसने मारियुपोल-वोल्नोवाखा में मानवीय कॉरिडोर बनाकर नागरिकों को सुरक्षित निकालने पर भी सहमति जताई थी। लेकिन इसका खासा फायदा मिलता नजर नहीं आ रहा है। पूर्वी यूक्रेन में फंसे भारतीय बाहर निकलने के इन रास्तों का इस्तेमाल नहीं कर पा रहे हैं। अधिकांश नागरिकों को खारकीव जैसे अन्य संघर्ष क्षेत्रों से बाहर निकाला लेने के बाद अब सूमी यूक्रेन में निकासी के प्रयासों का मुख्य फोकस बना हुआ है। कीव में भारतीय दूतावास ने यह पता लगाने के लिए एक अभियान शुरू किया है कि कहीं और भारतीय संघर्ष क्षेत्रों या यूक्रेन के अन्य हिस्सों में तो नहीं फंसे हैं। दूतावास ने अपने ट्विटर हैंडल पर एक पोस्ट में ऐसे किसी भी भारतीय का ब्योरा मांगा है। दूतावास ने ट्वीट किया सभी भारतीय नागरिक जो अभी भी यूक्रेन में रह रहे हैं, उनसे अनुरोध है कि वे अटैच  जरूरी डिटेल तत्काल आधार पर भरें। विदेश मंत्रालय ने कहा कि 76 निकासी उड़ानों में अब तक 15,920 भारतीयों को वापस लाया गया है। शनिवार और रविवार को 13 उड़ानें नई दिल्ली और मुंबई में उतरीं, जिससे लगभग 2,500 लोग वापस आए। रविवार और सोमवार के लिए सात और निकासी उड़ानें निर्धारित हैं, जिनमें से एक भारतीय वायु सेना का सी-17 हैवी-लिफ्ट विमान शामिल है। ये उड़ानें बुडापेस्ट, रेजजो और सुसेवा से उड़ान भरती हैं। भारत द्वारा अपनी पहली यात्रा सलाह जारी किए जाने के बाद से 21,000 से अधिक भारतीय यूक्रेन छोड़ चुके हैं। इनमें से 19,920 भारत पहुंच चुके हैं।

8 बिंदुओं पर पुलिसकर्मियों और अधिकारियों को शपथ दिलाई     |     ज्यादा खून बह जाने से हुई थी मौत; दोषी प्रेमी को उम्रकैद की सजा     |     काशी के मौसम का मिजाज बदला,सुबह कोहरा रहा अधिक, शाम में गलन     |     छात्र संघ चुनाव निरस्त होने पर प्रदर्शन, छत से कूदे स्टूडेंट्स     |     बोले- रामपुर में भाजपा की जीत से आजम के आतंक का अंत, अखिलेश-शिवपाल दिखावे के लिये अलग थे | Said- Azam’s terror ended with BJP’s victory in Rampur, Akhilesh-Shivpal were different for appearances     |     महू-नसीराबाद हाइवे पर जानलेवा गड्डे, ठेकेदार बोला- भूमिपूजन के बाद ही काम शुरू करेंगे     |     भोपाल में लॉयल बुक डिपो में बुक्स, एसी और फर्नीचर जला     |     आमिर खान ने अपने नए प्रोडक्शन ऑफिस में की कलश पूजा     |     ईरान का प्रेस टीवी नेटवर्क बंद करने से पश्चिम के पाखंड का पता चलता है : ईरानी अधिकारी     |     टेस्ट सीरीज में मोहम्मद शमी के स्थान पर इन खिलाड़ियों को मिल सकता है मौका     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 8860606201