Breaking
दोपहर में सर्द हवाओं ने बढ़ाई ठंड दिन का पारा सामान्य से 2 डिग्री कम ​​​​पेटीएम वॉलेट बैंक एक्टिवेटेड थे सिम, गिरोह के सदस्यों की तलाश पानी भरने गई पीड़िता से की थी अभद्रता , 8 साल पहले दर्ज हुआ था मामला दिसंबर में बुध, शुक्र, सूर्य का गोचर, जानें कब है गीता जयंती, एकादशी, क्रिसमस वर्ष 2023 में संतान की रक्षा, सेहत, आयु और खुशी के लिए आ रहे हैं 6 व्रत न प्रिंसिपल आए और न शिक्षक; पढ़िए पूरा मामला अनुसूचित जाति के लिए 13% आरक्षण का विरोध,16 फीसदी नहीं करने पर आंदोलन की चेतावनी शीतकालीन सत्र पर फैसला; विधायी कार्यों की भी मिलेगी मंजूरी, ग्रीन टैक्स पर लगेगी मुहर मोहाली के विकास भवन में की जाएगी कार्यक्रम की शुरूआत हिमाचल में सभी सीटों पर होगी 'आप' की जमानत जब्त, केजरीवाल को बताया देश का झूठा इंसान

छत्‍तीसगढ़ के पूर्व सीएम डा. रमन ने कर्ज को लेकर सरकार को घेरा

रायपुर। छत्तीसगढ़ सरकार ने दिसंबर 2018 से अक्टूबर 2021 के बीच 43 महीनों में 51 हजार करोड़ रुपये से अधिक का कर्ज लिया है। वहीं अब पूर्व मुख्‍यमंत्री डा. रमन सिंह ने मंगलवार को इंटरनेट मीडिया पर छत्‍तीसगढ़ सरकार पर कर्ज को लेकर हमला बोला है।

रमन सिंह ने ट्वीट किया – ये है गर्त में जाता कांग्रेस का ‘छत्तीसगढ़ माडल’। कर्ज न चुकाने पर आज बैंक नया रायपुर की सरकारी संपत्तियों को कब्जे में ले रहा है। सरकार के आर्थिक कुप्रबंधन और कर्ज लो घी पियो की आदत से विधानसभा, मंत्रालय, चौक-चौराहे के साथ छत्तीसगढ़ महतारी गिरवी हो जाएगी। इसके पूर्व भी रमन सिंह ने रोजगार मिशन को लेकर भी बयान दिया था
छत्‍तीसगढ़ सरकार ने राज्य में रोजगार की संभावना तलाशने के लिए मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में रोजगार मिशन का गठन किया है। डा. रमन सिंह ने इसे सरकार का नया जुमला करार दिया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की ये समितियां धोखा नीतियां हैं।
बता दें कि चालू वित्तीय वर्ष में अब तक लिया गया 9,729 करोड़ का कर्ज भी शामिल है। विधानसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने यह जानकारी दी है। उन्होंने यह भी बताया है कि चालू वित्तीय वर्ष में लिए गए कर्ज में 4,965 करोड़ केंद्र सरकार के माध्यम से जीएसटी ऋण के रूप में लिया गया है। 282 करोड़ रुपये केंद्र से विशेष सहायता के रूप में मिला है।
मुख्यमंत्री ने बताया है कि दिसंबर 2018 से मार्च 2019 तक 1771.94 करोड़ रुपये ब्याज और 590.64 करोड़ रुपये मूलधन के रूप में जमा किया गया। वित्तीय वर्ष 2019-20 में 2036.36 करोड़ मूलधन लौटाया गया, जबकि 4970.34 करोड़ ब्याज जमा किया गया।
2020-21 में 5633.11 करोड़ ब्याज जमा किया गया। वहीं, 3993.77 करोड़ मूलधन लौटाया गया। इसी तरह चालू वित्तीय वर्ष में अप्रैल से 24 नवंबर तक 2109.25 करोड़ मूलधन लौटाया गया है, जबकि 3101.60 करोड़ ब्याज के रुप में जमा किया गया है।

दोपहर में सर्द हवाओं ने बढ़ाई ठंड दिन का पारा सामान्य से 2 डिग्री कम     |     ​​​​पेटीएम वॉलेट बैंक एक्टिवेटेड थे सिम, गिरोह के सदस्यों की तलाश     |     पानी भरने गई पीड़िता से की थी अभद्रता , 8 साल पहले दर्ज हुआ था मामला     |     दिसंबर में बुध, शुक्र, सूर्य का गोचर, जानें कब है गीता जयंती, एकादशी, क्रिसमस     |     वर्ष 2023 में संतान की रक्षा, सेहत, आयु और खुशी के लिए आ रहे हैं 6 व्रत     |     न प्रिंसिपल आए और न शिक्षक; पढ़िए पूरा मामला     |     अनुसूचित जाति के लिए 13% आरक्षण का विरोध,16 फीसदी नहीं करने पर आंदोलन की चेतावनी     |     शीतकालीन सत्र पर फैसला; विधायी कार्यों की भी मिलेगी मंजूरी, ग्रीन टैक्स पर लगेगी मुहर     |     मोहाली के विकास भवन में की जाएगी कार्यक्रम की शुरूआत     |     हिमाचल में सभी सीटों पर होगी ‘आप’ की जमानत जब्त, केजरीवाल को बताया देश का झूठा इंसान     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 8860606201