Breaking
“भाषा” महज एक शब्द नहीं, संस्कृति का पर्याय है। यदि संस्कृति को बचाना है तो भाषा को बचाना होगा जन-जन को जोड़ें "महाकाल लोक" के लोकार्पण समारोह से : मुख्यमंत्री चौहान Women Business Idea- घर बैठे कम लागत में महिलायें शुरू कर सकती हैं यह बिज़नेस राज्यपाल उइके वर्धा विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित राष्ट्रीय संगोष्ठी में हुई शामिल, अंबेडकर उत्कृष्टता... विराट कोहली नहीं खेलेंगे अगला मुकाबला मनोरंजन कालिया बोले- करेंगे मानहानि का केस,  पूर्व मेयर राठौर  ने कहा दोनों 'झूठ दिआं पंडां कहा-बेटे का नाम आने के बावजूद टेनी ने नहीं दिया मंत्री पद से इस्तीफा करनाल में बिल बनाने की एवज में मांगे थे 15 हजार, विजिलेंस ने रंगे हाथ दबोचा स्कूल में भिड़ीं 3 शिक्षिकाएं, BSA ने तीनों को किया निलंबित दिल्ली से यूपी तक होती रही चेकिंग, औरैया में पकड़ा गया, हत्या का आरोप

तिल्लोर खुर्द गाँव के हर घर पहुँचा नल से जल

भोपाल : तिल्लोर खुर्द गाँव की भौगोलिक संरचना में अधिकतर भूमि के नीचे कठोर चट्टान होने के कारण यहाँ के जल स्त्रोत सालभर पानी नहीं देते हैं। गर्मी में तो बोरिंग तथा हैंडपंप का पानी सूख जाता है और ग्रामीणों को भीषण जल संकट का सामना करना पड़ता है। इंदौर के रालामंडल अभ्यारण्य से मात्र 10 मिनट की दूरी पर स्थित तिल्लोर खुर्द गाँव का बस स्टेंण्ड, दशहरा मैदान और हरिजन मोहल्ला के रहवासी पानी की समास्या से काफी परेशान रहते थे।

भारत सरकार द्वारा प्रारंभ किये गये जल जीवन मिशन को प्रदेश ने भी अपनाया और 50 प्रतिशत राज्यांश से जल-प्रदाय योजनाओं के कार्य शुरू किए। मिशन में ग्राम तिल्लोर खुर्द का रेट्रो फिटिंग नल-जल योजना के लिए चयन हुआ। सबसे पहले गाँव वासियों के सहयोग से ग्राम आकलन और नजरिये नक्शे के माध्यम से गाँव की आधारभूत स्थिति की जानकारी के आधार पर प्रोफाइल तैयार की गई। जन- भागीदारी प्रक्रिया के माध्यम से तिल्लोर खुर्द की जल-प्रदाय योजना का निर्माण किया गया।

जल जीवन मिशन में रेट्रो फिटिंग जल-प्रदाय योजना के पूरा होने पर 7 हजार 811 की आबादी वाले गाँव तिल्लोर खुर्द के 1474 परिवारों के घर-घर पहुँचा नल कनेक्शन से जल। अब गाँव के रहवासियों को किसी भी मौसम में पानी के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा। गाँव की निवासी गृहणी सुश्री संगीता सोलंकी बहुत खुश हैं क्योंकि उन्हें अब दूर तक जाकर पानी लाने की तकलीफ से निजात मिल गई है। जब संगीता से घर में नल और नल से मिल रहे जल के बारे में पूछा तो वे खुशी भरे लहजे में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान को हाथ जोड़कर धन्यवाद देती हैं। संगीता का कहना है कि मेरी तरह लाखों गृहणियाँ होंगी जिनकी “नीर की पीर” को जल जीवन मिशन ने दूर कर दी है।

तिल्लोर खुर्द के लिए जल समिति का गठन हो चुका है, जो जल-प्रदाय योजना के संचालन एवं संधारण का कार्य संभाल रही है। जल की गुणवत्तापूर्ण उपलब्धता के उद्देश्य से गाँव की 5 महिलाओं को एफटीके किट के माध्यम से नाइट्रेट, वैक्टीरिया, आयरन और जल की कठोरता जैसे 8 मानकों का प्रशिक्षण दिया गया। अब यही महिलायें ग्रामीण परिवारों को प्रदाय हो रहे जल का समय-समय पर परीक्षण कर रहीं हैं। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग ने तिल्लोर खुर्द गाँव के युवाओं को इलेक्ट्रिशियन, फिटर और प्लम्बर की ट्रेनिंग देकर वाटर टेक्नोक्रेट बनाया गया है, ताकि गाँव की इस जल-प्रदाय योजना के संचालन में आई किसी भी कठिनाई को यह युवा दूर कर सकेंगे।

 

“भाषा” महज एक शब्द नहीं, संस्कृति का पर्याय है। यदि संस्कृति को बचाना है तो भाषा को बचाना होगा     |     जन-जन को जोड़ें “महाकाल लोक” के लोकार्पण समारोह से : मुख्यमंत्री चौहान     |     Women Business Idea- घर बैठे कम लागत में महिलायें शुरू कर सकती हैं यह बिज़नेस     |     राज्यपाल उइके वर्धा विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित राष्ट्रीय संगोष्ठी में हुई शामिल, अंबेडकर उत्कृष्टता केंद्र का भी किया शुभारंभ     |     विराट कोहली नहीं खेलेंगे अगला मुकाबला     |     मनोरंजन कालिया बोले- करेंगे मानहानि का केस,  पूर्व मेयर राठौर  ने कहा दोनों ‘झूठ दिआं पंडां     |     कहा-बेटे का नाम आने के बावजूद टेनी ने नहीं दिया मंत्री पद से इस्तीफा     |     करनाल में बिल बनाने की एवज में मांगे थे 15 हजार, विजिलेंस ने रंगे हाथ दबोचा     |     स्कूल में भिड़ीं 3 शिक्षिकाएं, BSA ने तीनों को किया निलंबित     |     दिल्ली से यूपी तक होती रही चेकिंग, औरैया में पकड़ा गया, हत्या का आरोप     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 8860606201