Breaking
ईडी के समन पर बिफरे नेता प्रतिपक्ष गोविंद सिंह, सुप्रीम कोर्ट में लगाएंगे केस  जो राम के अस्तित्व को नकारते थे वे अब राम नाम जप रहे हैं बसंत पर्व से हुआ 40 दिवसीय फाग महोत्सव का शुभारंभ अखिलेश यादव पर बरसे केशव प्रसाद मौर्य....कहा- बिना कुर्सी के उसी तरह तड़प रहे हैं, जिस तरह बिना पानी... बागेश्वर महाराज धीरेंद्र शास्त्री के समर्थन में उतरीं रूबी आसिफ खान, बोलीं- भारत को घोषित किया जाए ‘... मण्डलायुक्त ने दिया 3 शैक्षणिक संस्थाओं के मान्यता प्रपत्रों की जॉच कर रिपोर्ट देने का निर्देश भारत में जल्द लॉन्च होगा 'Coca-Cola' स्मार्टफोन, जानें शानदार फीचर्स… फिल्म 'पठान' बॉक्स ऑफिस पर 300 करोड़ पार छिंदवाड़ा में एक रुपये किलो में बिक रहा टमाटर टोल नाका कर्मचारियों पर भड़के सौंसर विधायक, अंदर कराने की दी धमकी

एंटी-टैंक गाइडेड मिसाइल दुश्मन पर टूटेगा कहर बन, सीमा पर होगी तैनाती

नई दिल्ली। देश की सीमाओं की रक्षा के लिए भारतीय सेना सतत तत्पर है और उसकी निगरानी में मुस्तैद है अब सेना के पास जल्द ही एक ऐसी एंटी-टैंक गाइडेड मिसाइल आने वाली है, जिससे दुश्मन के टैंकों की हालत पस्त हो जाएगी। इसके लिए भारत डायनेमिक्स लिमिटेड (बीडीएल) ने रूस की ओइएम के साथ समझौता किया है। इसके आने से पाकिस्तान और चीन की सीमाओं पर भारतीय सेना की ताकत और बढ़ जाएगी। इस एंटी-टैंक गाइडेड मिसाइल का नाम है कॉनकर्स एम एंटी टैंक मिसाइल। इसके लिए बीडीएल ने भारतीय सेना के साथ 3131.82 करोड़ रुपये का समझौता किया है। भारतीय सेना को तीन साल में ये एंटी-टैंक गाइडेड मिसाइल मिलेंगी। जबकि बीडीएल ने रूसी संस्था के साथ 11,400 करोड़ रुपये का समझौता किया है।
बीडीएल के सीएमडी रिटायर्ड कोमोडोर सिद्धार्थ मिश्रा ने बताया कि कॉनकर्स-एम को बीडीएल पूरी तरह से भारतीय सेना के लिए स्वदेशी हालातों के हिसाब से बनाएगा। इसका ज्यादातर हिस्सा स्वदेशी होगा। बीडीएल ने भारत के कुछ मित्र देशों के साथ इस एंटी-टैंक गाइडेड मिसाइल का समझौता करने का भी प्लान बनाया है। उन्होंने कहा कि हम चाहते हैं कि भारत में निर्मित एंटी-टैंक मिसाइल का एक्सपोर्ट हो। बीडीएल कॉनकर्स एम एंटी टैंक मिसाइल के अलावा मैन-पोर्टेबल एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल, नाग मिसाइल, मिलन-2टी और अमोघा का निर्माण कर रहा है। ये हथियार भी एक्सपोर्ट के लिए तैयार हैं। अभी जो कॉनकर्स एम एंटी टैंक मिसाइल भारतीय सेना को मिलेगी, वह दूसरे जेनरेशन की मिसाइल होगी। यह किसी भी बख्तरबंद वाहन को उड़ा सकती है।
कॉनकर्स एम एंटी टैंक मिसाइल में एक्सप्लोसिव रिएक्टिव ऑर्मर तकनीक लगी है, जो किसी भी मजबूत टैंक को सेकेंड्स में ध्वस्त करने की क्षमता रखती है। यह मिसाइल जमीन पर स्टैंड लगाकर या बीएमपी-2 टैंक से भी लॉन्च की जा सकती है। इसकी रेंज 75 से 4000 मीटर है। यह चार किलोमीटर की दूरी मात्र 19 सेकेंड में पूरी कर लेती हैं। यानी दुश्मन के टैंक के पास बचने के लिए ज्यादा समय नहीं होगा। कॉनकर्स एम एंटी टैंक मिसाइल के पांच वर्जन दुनिया भर में हैं। दो का उपयोग कई सालों से दो दर्जन से ज्यादा देशों में किया जा रहा है। इसका वजन करीब 14.6 किलोग्राम है। लॉन्च पोस्ट के साथ वजन 22.5 किलोग्राम हो जाता है। लंबाई 45 इंच और व्यास 5.3 इंच है। इसका वॉरहेड यानी हथियार जिसे 9एन131 हीट कहते हैं वह 2.7 किलोग्राम का होता है। यह हथियार टैंक से छूते ही फट जाता है।
कॉनकर्स एम एंटी टैंक मिसाइल की अधिकतम गति 680 फीट प्रति सेकेंड है। इसका इंजन सॉलिड फ्यूल रॉकेट होता है। आमतौर पर इसकी रेंज 75 मीटर से लेकर 4 किलोमीटर होती है। यानी भारत की पश्चिमी और पूर्वी सीमा पर इसे तैनात करते ही दुश्मन देशों के टैंकों की हालत खराब हो जाएगी। क्योंकि यह फायर करते ही सीधे टैंक को कंकाल में बदल देगा।

ईडी के समन पर बिफरे नेता प्रतिपक्ष गोविंद सिंह, सुप्रीम कोर्ट में लगाएंगे केस     |      जो राम के अस्तित्व को नकारते थे वे अब राम नाम जप रहे हैं     |     बसंत पर्व से हुआ 40 दिवसीय फाग महोत्सव का शुभारंभ     |     अखिलेश यादव पर बरसे केशव प्रसाद मौर्य….कहा- बिना कुर्सी के उसी तरह तड़प रहे हैं, जिस तरह बिना पानी के मछली     |     बागेश्वर महाराज धीरेंद्र शास्त्री के समर्थन में उतरीं रूबी आसिफ खान, बोलीं- भारत को घोषित किया जाए ‘हिंदू राष्ट्र’     |     मण्डलायुक्त ने दिया 3 शैक्षणिक संस्थाओं के मान्यता प्रपत्रों की जॉच कर रिपोर्ट देने का निर्देश     |     भारत में जल्द लॉन्च होगा ‘Coca-Cola’ स्मार्टफोन, जानें शानदार फीचर्स…     |     फिल्म ‘पठान’ बॉक्स ऑफिस पर 300 करोड़ पार     |     छिंदवाड़ा में एक रुपये किलो में बिक रहा टमाटर     |     टोल नाका कर्मचारियों पर भड़के सौंसर विधायक, अंदर कराने की दी धमकी     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 8860606201