Breaking
“भाषा” महज एक शब्द नहीं, संस्कृति का पर्याय है। यदि संस्कृति को बचाना है तो भाषा को बचाना होगा जन-जन को जोड़ें "महाकाल लोक" के लोकार्पण समारोह से : मुख्यमंत्री चौहान Women Business Idea- घर बैठे कम लागत में महिलायें शुरू कर सकती हैं यह बिज़नेस राज्यपाल उइके वर्धा विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित राष्ट्रीय संगोष्ठी में हुई शामिल, अंबेडकर उत्कृष्टता... विराट कोहली नहीं खेलेंगे अगला मुकाबला मनोरंजन कालिया बोले- करेंगे मानहानि का केस,  पूर्व मेयर राठौर  ने कहा दोनों 'झूठ दिआं पंडां कहा-बेटे का नाम आने के बावजूद टेनी ने नहीं दिया मंत्री पद से इस्तीफा करनाल में बिल बनाने की एवज में मांगे थे 15 हजार, विजिलेंस ने रंगे हाथ दबोचा स्कूल में भिड़ीं 3 शिक्षिकाएं, BSA ने तीनों को किया निलंबित दिल्ली से यूपी तक होती रही चेकिंग, औरैया में पकड़ा गया, हत्या का आरोप

 कप्तान मनीष पांडे की रेलवेज के खिलाफ तूफानी बल्लेबाजी

कर्नाटक के कप्तान मनीष पांडे ने रेलवेज के खिलाफ रणजी ट्राफी 2022 के इलीट ग्रुप सी मैच में शानदार शतकीय पारी खेली। उन्होंने महज 83 गेंदों पर नौ चौकों और चार छक्कों की मदद से शतक जड़ा। यह उनके फर्स्ट क्लास करियर का 20वां शतक है। कृष्णमूर्ति सिद्धार्थ से उन्हें अच्छा साथ मिला। सिद्धार्थ ने भी शतक जमाया है। दोनों को बीच 250 रनों से ऊपर की साझेदारी हो चुकी है। 110 रन पर तीन विकेट गिरने के बाद मैदान पर उतरे मनीष ने शुरुआत ने रेलवेज के गेंदबाजों की जमकर खबर ली और खूब चौके-छक्के बरसाए और तूफानी शतक जमाया।

रेलवेज ने टास जीतकर कर्नाटक को पहले बैटिंग का न्योता दिया। मनीष पांडे की अगुवाई वाली टीम की ओर से मयंक अग्रवाल और देवदत्त पड्डीकल ओपनिंग करने उतरे। टीम को पहला झटका मयंक के तौर पर लगा। वह 16 रन बनाकर रन आउट हुए। तब टीम का स्कोर 27 रन था। इसके बाद दूसरा झटका पड्डीकल के तौर पर 50 रन पर लगा। वह 21 रन बनाकर तेज गेंदबाज युवराज सिंह की गेंद पर आउट हुए। टीम का स्कोर जब 110 रन था तब रविकुमार समर्थ 47 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। उन्हें अविनाश यादव ने आउट किया।
इसके बाद कर्नाटक के कप्तान मनीष पांडे मैदान पर उतरे और सिद्धार्थ के मिलकर टीम को संभाला। वह शुरुआत से ही गेंदबाजों पर हावी दिखे। दाएं हाथ के 32 वर्षीय इस बल्लेबाज ने महज 46 गेंदों पर चार छक्कों की मदद से अर्धशतक जमा दिया था। वहीं एक अन्य मैच में टीम इंडिया के पूर्व उपकप्तान अजिंक्य रहाणे ने शानादार शतक जड़ा। उनका बल्ला काफी समय से खामोश चल रहा था। ऐसे में सौराष्ट्र के खिलाफ मैच में मुंबई के इस बल्लेबाज ने शतक जड़कर आलोचकों को करारा जवाब दिया।

“भाषा” महज एक शब्द नहीं, संस्कृति का पर्याय है। यदि संस्कृति को बचाना है तो भाषा को बचाना होगा     |     जन-जन को जोड़ें “महाकाल लोक” के लोकार्पण समारोह से : मुख्यमंत्री चौहान     |     Women Business Idea- घर बैठे कम लागत में महिलायें शुरू कर सकती हैं यह बिज़नेस     |     राज्यपाल उइके वर्धा विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित राष्ट्रीय संगोष्ठी में हुई शामिल, अंबेडकर उत्कृष्टता केंद्र का भी किया शुभारंभ     |     विराट कोहली नहीं खेलेंगे अगला मुकाबला     |     मनोरंजन कालिया बोले- करेंगे मानहानि का केस,  पूर्व मेयर राठौर  ने कहा दोनों ‘झूठ दिआं पंडां     |     कहा-बेटे का नाम आने के बावजूद टेनी ने नहीं दिया मंत्री पद से इस्तीफा     |     करनाल में बिल बनाने की एवज में मांगे थे 15 हजार, विजिलेंस ने रंगे हाथ दबोचा     |     स्कूल में भिड़ीं 3 शिक्षिकाएं, BSA ने तीनों को किया निलंबित     |     दिल्ली से यूपी तक होती रही चेकिंग, औरैया में पकड़ा गया, हत्या का आरोप     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 8860606201