Breaking
बिहार में नगर निकाय चुनाव की नई तारीखों का ऐलान, दो चरणों में होंगे मतदान बारिश के कारण भारत-न्यूजीलैंड के बीच तीसरा वनडे मैच भी हुआ रद्द क्रेडिट कार्ड वेरीफिकेशन के नाम पर पटवारी को लूटा, रिलायंस कस्टमर से आया मैसेज छत्तीसगढ़ की 'माउंटेन गर्ल' नैना सिंह को राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने किया सम्मानित सुखबीर बादल को त्याग पत्र देना चाहिए; कमेटी में BB जगीर कौर समेत 12 लीडर शामिल हरियाणा कैबिनेट की बैठक शुरू, शीतकालीन सत्र पर होगा फैसला लिफ्ट में 25 मिनट तक फंसी रहीं तीन बच्चियां झांसी में शादी में शामिल होने जा रहे थे, 120 की रफ्तार में दौड़ रही बाइक ने मारी टक्कर प्रियंका-निक की शादी के 4 साल हुए पूरे खरगोन में बड़वाह उप जेल की दीवार फांदकर कैदी फरार

SBI ने किया अलर्ट, पैसा पाने के लिए स्कैन नहीं करें QR कोड

बैंक ने कहा है कि अगर आपको किसी भी व्यक्ति की तरफ से कोई QR कोड मिलता है तो उसे गलती से भी स्कैन न करें. ऐसा करने से आपके खाते से पैसा गायब हो सकता है.

पैसा भेजने से पहले हमेशा मोबाइल नंबर, नाम और UPI ID वेरिफाई करें.

देश में डिजिटाइजेशन के साथ ऑनलाइन फ्रॉड के मामले भी काफी तेजी से बढ़ी है. पिछले कुछ वर्षों में सबसे ज्यादा मामले मोबाइल के क्यूआर कोड से फ्रॉड के आए हैं. जालसाज आजकल इस तकनीक के जरिए लोगों के बैंक खाते से पैसा उड़ा रहे हैं. क्यूआर कोड फ्रॉड के बढ़ते मामले को देखते हुए देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक ने अपने 44 करोड़ से अधिक ग्राहकों को सावधान किया है. बैंक ने कहा है कि अगर आपको किसी भी व्यक्ति की तरफ से कोई QR कोड मिलता है तो उसे गलती से भी स्कैन न करें. ऐसा करने से आपके खाते से पैसा गायब हो सकता है.

 क्या होता है QR कोड?

आपको बता दें कि क्यूआर कोड के भीतर कुछ एनक्रिप्टेड इनफॉर्मेशन होती है. कोई फोन नंबर हो सकता है, किसी वेबसाइट का लिंक हो सकता है, किसी ऐप का डाउनलोड लिंक हो सकता है. इस इनफॉर्मेशन को डिक्रिप्ट करने के लिए उसको स्कैन करना होता है. स्कैन करते ही वो कोड साधारण टेक्स्ट के रूप में आपके सामने खुल जाता है.

कैसे होता है QR कोड से फ्रॉड?

SBI कहा कि QR कोड का इस्तेमाल हमेशा पेमेंट करने के लिए होता है, न कि पेमेंट प्राप्त करने के लिए. इसलिए पेमेंट पाने करने के नाम पर कभी भी QR कोड स्कैन न करें. इससे आपका अकाउंट खाली हो सकता है. SBI के मुताबिक, जब आप एक QR कोड स्कैन करते हैं तो पैसे नहीं मिलते हैं. सिर्फ मैसेज आता है कि बैंक अकाउंट से पैसे निकल गए हैं.

फॉलो करें ये सेफ्टी टिप्स

SBI ने कहा, कोई भी भुगतान करने से पहले यूपीआई आईडी वेरिफाई करें. बैंक ने कहा, यूपीआई पेमेंट्स करते समय कुछ सुरक्षा नियमों का पालन करना चाहिए.

    UPI पिन केवल पैसे के ट्रांसफर के लिए जरूरी है, प्राप्त करने के लिए नहीं.
पैसा भेजने से पहले हमेशा मोबाइल नंबर, नाम और UPI ID वेरिफाई करें.
UPI PIN को कभी भी किसी के साथ शेयर न करें. यूपीआई पिन को भ्रमित न करें.
फंड ट्रांसफर के लिए स्कैनर का इस्तेमाल सही तरीके से किया जाना चाहिए.
आधिकारिक स्रोतों के अलावा अन्य से समाधान न मांगें.
किसी भी भुगतान या तकनीकी मुद्दों के लिए ऐप के हेल्प सेक्शन का उपयोग करें और किसी भी विसंगति के मामले में बैंक के शिकायत समाधान पोर्टल https://crcf.sbi.co.in/ccf/ के माध्यम से समाधान प्राप्त करें.

बिहार में नगर निकाय चुनाव की नई तारीखों का ऐलान, दो चरणों में होंगे मतदान     |     बारिश के कारण भारत-न्यूजीलैंड के बीच तीसरा वनडे मैच भी हुआ रद्द     |     क्रेडिट कार्ड वेरीफिकेशन के नाम पर पटवारी को लूटा, रिलायंस कस्टमर से आया मैसेज     |     छत्तीसगढ़ की ‘माउंटेन गर्ल’ नैना सिंह को राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने किया सम्मानित     |     सुखबीर बादल को त्याग पत्र देना चाहिए; कमेटी में BB जगीर कौर समेत 12 लीडर शामिल     |     हरियाणा कैबिनेट की बैठक शुरू, शीतकालीन सत्र पर होगा फैसला     |     लिफ्ट में 25 मिनट तक फंसी रहीं तीन बच्चियां     |     झांसी में शादी में शामिल होने जा रहे थे, 120 की रफ्तार में दौड़ रही बाइक ने मारी टक्कर     |     प्रियंका-निक की शादी के 4 साल हुए पूरे     |     खरगोन में बड़वाह उप जेल की दीवार फांदकर कैदी फरार     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 8860606201