Breaking
अमृतसर से आए गोताखोरों ने की तलाश, युवक का नहीं चला पता नवंबर माह में औसतन हर रोज मिले 5 मरीज, संख्या पहुंची 207, एक भी एडमिट नहीं शाम को खेलते-खलते दो नाबालिग सगे भाई हुए थे लापता, पीआरवी ने दुर्गापुर रोड टहलते हुए मिले पार्टी हाईकमान जेल से निकलने पर सौंप सकती है बड़ी जिम्मेदारी तापसी पन्नू की मर्डर मिस्ट्री थ्रिलर  फिल्म 'ब्लर' का टीजर हुआ रिलीज लंबा मार्च इस्लामाबाद नहीं जाएगा तेल कंपनियों ने जारी किए पेट्रोल-डीजल के दाम रिश्तेदारों को छोड़ने के बाद खाना खाते वक्त लूटी, 4 लुटेरों ने की वारदात कोई दीवाना कहता है...कविता से दर्शकों को मंत्रमुग्ध किया, पूर्व मंत्री अरविंद सिंह गोप ने किया था कव... झटका ! 29 दिसंबर से Amazon की फूड डिलीवरी सर्विस भारत में होने वाली है बंद

 महाराष्ट्र में बेमौसम बरसात से अंगूर, प्याज, आम और काजू के फसल बर्बाद

मुंबई। महाराष्ट्र में पिछले दो दिनों से हो रही बेमौसम बरसात ने रबी की फसलों और फल के बागानों को भारी नुकसान पहुंचाया है. नासिक जिले के प्याज और अनार के बागों को बर्बाद करने के बाद अब यह बेमौसम बरसात ने कोंकण के इलाकों की ओर कूच किया है. यहां रबी की फसलें ही नहीं बल्कि आम और काजू  के बागों पर असर हो रहा है. इससे नए मौसम में आने वाले आम और काजू के बागों के किसानों को बड़ा नुकसान हो रहा है. बुधवार को कोंकण की ओर कूच करने से पहले मंगलवार को नासिक, धुले और जलगांव जिले में बेमौसम बरसात ने किसानों की रबी की फसलों का बड़ा नुकसान किया है. किसानों ने मांग की है कि उनके नुकसान का पंचनामा तुरंत किया जाए और उनके नुकसान की भरपाई की जाए. किसान पहले ही लगातार हो रहे मौसम में बदलाव का नुकसान उठा रहे हैं. इस मौसम की मार का कोई हल दिखाई नहीं दे रहा है. मौसम विभाग ने जैसा अनुमान जताया था वैसा ही हुआ है. बेमौसम बरसात से कितना नुकसान पहुंचा है, किसान अब इस नुकसान का अनुमान लगा रहे हैं. इस बेमौसम बरसात का सबसे ज्यादा कहर अंगूर उत्पादकों पर टूटा है. अब तक अंगूर उत्पादकों ने धैर्य रखा था. बस थोड़े ही दिनों में अंगूर तोड़ा जाना ही बाकी रह गया था कि अचानक आई बरसात ने उम्मीदों पर पानी फेर दिया. अब नासिक जिले के अंगूर उत्पादक किसान पूरी तरह से हताश हो चुके हैं. इससे पहले भी बेमौसम बरसात की वजह से किसान काफी नुकसान उठा चुके हैं. एक तरफ कीमतें लगातार गिर रही हैं. किसानों को उनके उत्पादों का सही दाम नहीं मिल पा रहा है, दूसरी तरफ इस आसमानी आफत से फसलें और फल खराब हो रहे हैं. आलम यह है कि किसानों पर चारों तरफ से मार पड़ रही है. एक तो वो अपने हालात से मारा हुआ है. दूसरा मौसम मार रहा है, तीसरा सरकार सहायता नहीं कर रही है, चौथा बाजार में उत्पादों की कीमतें गिर रही हैं.

अमृतसर से आए गोताखोरों ने की तलाश, युवक का नहीं चला पता     |     नवंबर माह में औसतन हर रोज मिले 5 मरीज, संख्या पहुंची 207, एक भी एडमिट नहीं     |     शाम को खेलते-खलते दो नाबालिग सगे भाई हुए थे लापता, पीआरवी ने दुर्गापुर रोड टहलते हुए मिले     |     पार्टी हाईकमान जेल से निकलने पर सौंप सकती है बड़ी जिम्मेदारी     |     तापसी पन्नू की मर्डर मिस्ट्री थ्रिलर  फिल्म ‘ब्लर’ का टीजर हुआ रिलीज     |     लंबा मार्च इस्लामाबाद नहीं जाएगा     |     तेल कंपनियों ने जारी किए पेट्रोल-डीजल के दाम     |     रिश्तेदारों को छोड़ने के बाद खाना खाते वक्त लूटी, 4 लुटेरों ने की वारदात     |     कोई दीवाना कहता है…कविता से दर्शकों को मंत्रमुग्ध किया, पूर्व मंत्री अरविंद सिंह गोप ने किया था कवि सम्मेलन का आयोजन     |     झटका ! 29 दिसंबर से Amazon की फूड डिलीवरी सर्विस भारत में होने वाली है बंद     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 8860606201