Breaking
“भाषा” महज एक शब्द नहीं, संस्कृति का पर्याय है। यदि संस्कृति को बचाना है तो भाषा को बचाना होगा जन-जन को जोड़ें "महाकाल लोक" के लोकार्पण समारोह से : मुख्यमंत्री चौहान Women Business Idea- घर बैठे कम लागत में महिलायें शुरू कर सकती हैं यह बिज़नेस राज्यपाल उइके वर्धा विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित राष्ट्रीय संगोष्ठी में हुई शामिल, अंबेडकर उत्कृष्टता... विराट कोहली नहीं खेलेंगे अगला मुकाबला मनोरंजन कालिया बोले- करेंगे मानहानि का केस,  पूर्व मेयर राठौर  ने कहा दोनों 'झूठ दिआं पंडां कहा-बेटे का नाम आने के बावजूद टेनी ने नहीं दिया मंत्री पद से इस्तीफा करनाल में बिल बनाने की एवज में मांगे थे 15 हजार, विजिलेंस ने रंगे हाथ दबोचा स्कूल में भिड़ीं 3 शिक्षिकाएं, BSA ने तीनों को किया निलंबित दिल्ली से यूपी तक होती रही चेकिंग, औरैया में पकड़ा गया, हत्या का आरोप

Ind vs SA: पहले वनडे में टीम इंडिया को मिली हार, शिखर धवन ने बताया यह कारण

पार्ल। टेस्ट मैचों की तरह वनडे मैचों में भी केएल राहुल के कप्तानी का आगाज निराशाजनक हुआ। भारत को पार्ल में मेजबान दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले वनडे मैच में 31 रन से हार का सामना करना पड़ा। हार के बाद ओपनर बल्लेबाज शिखर धवन ने बुधवार को कहा कि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले एकदिवसीय मैच में गुच्छों में विकेट गंवाने से टीम को नुकसान हुआ। कप्तान तेंबा बावुमा और रासी वेन डेर डुसेन के शतक और दोनों के बीच चौथे विकेट के लिए 204 रन की साझेदारी ने दक्षिण अफ्रीका ने पहले बल्लेबाजी करते हुए चार विकेट पर 296 रन बनाए। लक्ष्य का पीछा करते हुए भारतीय टीम शिखर धवन, विराट कोहली और शार्दुल ठाकुर के अर्धशतकों के बावजूद आठ विकेट पर 265 रन तक ही पहुंच सकी।

धवन ने मैच के बाद वर्चुअल प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘हम युवाओं को सलाह देते हैं कि वे स्थिति के अनुसार खेलें और टीम को आगे रखना चाहिए। साझेदारी महत्वपूर्ण है और मुझे यकीन है कि वे अनुभव के साथ सीखते रहेंगे। हमारी शुरुआत अच्छी रही, विकेट धीमा था और यह थोड़ा टर्न दे रहा था। जब आप 300 का पीछा कर रहे होते हैं को आप क्रीज पर आते ही गेंद के पीछे नहीं जा सकते। यह आसान नहीं है।  हमने गुच्छों में विकेट गंवाए और इसका असर हमारे खेल पर पड़ा। मैंने सिर्फ गेंद की योग्यता के अनुसार खेलने के बारे में सोचा था। यह अन्य दक्षिण अफ्रीकी पिचों जैसी नहीं थी। मुझे फ्लो मिला, तो मैं बस उसी के साथ आगे बढ़ना चाहता था।’

सीरीज से पहले  मानसिक तैयारी के बारे में पूछे जाने पर धवन ने कहा, ‘मैं मीडिया को नहीं सुनता या समाचार नहीं देखता। इस तरह मैं कोई जानकारी नहीं लेता। मुझे अपनी क्षमताओं पर भरोसा है और मैं काफी शांत रहता हूं। यह खेल का हिस्सा है। यह केवल मुझे मजबूत बनाता है।’

“भाषा” महज एक शब्द नहीं, संस्कृति का पर्याय है। यदि संस्कृति को बचाना है तो भाषा को बचाना होगा     |     जन-जन को जोड़ें “महाकाल लोक” के लोकार्पण समारोह से : मुख्यमंत्री चौहान     |     Women Business Idea- घर बैठे कम लागत में महिलायें शुरू कर सकती हैं यह बिज़नेस     |     राज्यपाल उइके वर्धा विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित राष्ट्रीय संगोष्ठी में हुई शामिल, अंबेडकर उत्कृष्टता केंद्र का भी किया शुभारंभ     |     विराट कोहली नहीं खेलेंगे अगला मुकाबला     |     मनोरंजन कालिया बोले- करेंगे मानहानि का केस,  पूर्व मेयर राठौर  ने कहा दोनों ‘झूठ दिआं पंडां     |     कहा-बेटे का नाम आने के बावजूद टेनी ने नहीं दिया मंत्री पद से इस्तीफा     |     करनाल में बिल बनाने की एवज में मांगे थे 15 हजार, विजिलेंस ने रंगे हाथ दबोचा     |     स्कूल में भिड़ीं 3 शिक्षिकाएं, BSA ने तीनों को किया निलंबित     |     दिल्ली से यूपी तक होती रही चेकिंग, औरैया में पकड़ा गया, हत्या का आरोप     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 8860606201