Breaking
एक गिरफ्तार और दूसरा आरोपी पुलिस को चकमा देकर फरार, अवैध असलहे और उपकरण बरामद मुख्यमंत्री स्लम स्वास्थ्य योजना के तहत् अब तक 16,538 लोगों का किया गया उपचा जानिए कैसे खरीदें सही टूथब्रश और कब बदलें गहलोत हाईकमान की नाराजगी से बचना चाहते हैं तो अध्यक्ष पद स्वीकारें 4 मासूम बच्चों की तालाब में डूबने से हुई मौत हर घर नल से जल पहुंचाने वाला पहला जिला बुरहानपुर, राष्ट्रपति के हाथों मिलेगा सम्‍मान दिल्ली के आनंद विहार से न्यू अशोक अशोक नगर तक बन रहीं 3 किमी लंबी दो टनल जेल में बंद निलंबित IAS पूजा सिंघल की तबीयत बिगड़ी निराधार 'तख्तापलट' की अफवाहों को खारिज करते हुए सार्वजनिक रूप से फिर से उभरे शी जिनपिंग सबसे पहले आरएसएस को बैन करिए : लालू प्रसाद

एक ही गठबंधन का हिस्सा बने कांग्रेस और भाजपा, साथ मिलकर चलाएंगे सरकार

शिलॉन्ग   कहते हैं कि राजनीति में कुछ भी सभव है। लेकिन क्या किसी ने सोचा होगा कि देश की दो सबसे बड़ी पार्टियां – कांग्रेस और भाजपा – एक साथ गठबंधन में सरकार चलाएंगी। दरअसल दो प्रतिद्वंद्वी, कांग्रेस और भाजपा, मेघालय में अब एक ही गठबंधन में हैं। मेघालय में कांग्रेस पार्टी के नेता एम्पीयरन लिंगदोह के नेतृत्व में सभी पांच कांग्रेस विधायकों ने मुख्यमंत्री कोनराड संगमा की नेशनल पीपुल्स पार्टी या एनपीपी के नेतृत्व वाले गठबंधन को समर्थन दिया है, जिसमें भाजपा भी भागीदार है।

लिंगदोह ने कहा कि कांग्रेस नेताओं ने संगमा के मेघालय डेमोक्रेटिक एलायंस, या एमडीए में शामिल होने का फैसला किया है। कांग्रेस के सभी पांच विधायकों ने आज संगमा से मुलाकात की और उन्हें अपना समर्थन पत्र दिया। एनपीपी और कांग्रेस पारंपरिक प्रतिद्वंद्वी थे, लेकिन पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस में कांग्रेस के 12 विधायकों के शामिल होने के बाद दोनों पार्टियां करीब आ गई हैं।

कांग्रेस विधायक दल (सीएलपी) के नेता लिंगदोह ने संवाददाताओं से कहा, “हमने कोनार्ड के संगमा के नेतृत्व वाले एमडीए को अपना समर्थन दिया है और आज हम सरकार को मजबूत करने के लिए एमडीए गठबंधन में शामिल हो गए हैं। हम सीएलपी सदस्यों ने समर्थन पत्र पर हस्ताक्षर किए और इसे मेघालय के मुख्यमंत्री को दिया।”

उन्होंने कहा, “हम एक दूसरे के हितों की रक्षा कर रहे हैं। हमारा मुख्य उद्देश्य हमारे निर्वाचन क्षेत्रों के लिए न्याय की तलाश करना है। हम यह सुनिश्चित करने के लिए एमडीए सरकार का समर्थन कर रहे हैं कि हमारा संयुक्त प्रयास राज्य को नागरिकों के सामान्य हित में आगे ले जाएगा।”

उन्होंने कहा, “हम पांच विधायकों ने यह फैसला किया है और हम साथ हैं क्योंकि हमें हुक्म देने वालों और हम कहां खड़े हैं, के बीच बहुत अंतर है। यह सीएलपी का फैसला है। हम विधायक हैं जो लोगों का प्रतिनिधित्व करते हैं। हमें उम्मीद है कि पार्टी और आलाकमान हमारे फैसले का समर्थन करेगा।”

उन्होंने कहा, “हम पांच विधायकों ने यह फैसला किया है और हम साथ हैं क्योंकि हमें हुक्म देने वालों और हम कहां खड़े हैं, के बीच बहुत अंतर है। यह सीएलपी का फैसला है। हम विधायक हैं जो लोगों का प्रतिनिधित्व करते हैं। हमें उम्मीद है कि पार्टी और आलाकमान हमारे फैसले का समर्थन करेगा।”

बता दें कि 2018 के विधानसभा चुनावों में, कांग्रेस 21 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी, लेकिन अपनी सरकार नहीं बना सकी। बीजेपी के नेतृत्व वाले नॉर्थ ईस्ट डेमोक्रेटिक अलायंस की सहयोगी एनपीपी ने एमडीए बनाया और कांग्रेस से सत्ता छीन ली। मेघालय कांग्रेस का गढ़ रहा है और मुकुल संगमा ने 2010 और 2018 के बीच सीएम के रूप में कार्य किया। लेकिन कांग्रेस के भीतर परेशानी पिछले साल अगस्त में और बढ़ गई जब शिलांग के सांसद विसेंट पाला को मुकुल संगमा को दरकिनार करते हुए मेघालय कांग्रेस कमेटी का अध्यक्ष नियुक्त किया गया। टीएमसी अब 60 सदस्यीय मेघालय विधानसभा में प्रमुख विपक्षी दल है।

एक गिरफ्तार और दूसरा आरोपी पुलिस को चकमा देकर फरार, अवैध असलहे और उपकरण बरामद     |     मुख्यमंत्री स्लम स्वास्थ्य योजना के तहत् अब तक 16,538 लोगों का किया गया उपचा     |     जानिए कैसे खरीदें सही टूथब्रश और कब बदलें     |     गहलोत हाईकमान की नाराजगी से बचना चाहते हैं तो अध्यक्ष पद स्वीकारें     |     4 मासूम बच्चों की तालाब में डूबने से हुई मौत     |     हर घर नल से जल पहुंचाने वाला पहला जिला बुरहानपुर, राष्ट्रपति के हाथों मिलेगा सम्‍मान     |     दिल्ली के आनंद विहार से न्यू अशोक अशोक नगर तक बन रहीं 3 किमी लंबी दो टनल     |     जेल में बंद निलंबित IAS पूजा सिंघल की तबीयत बिगड़ी     |     निराधार ‘तख्तापलट’ की अफवाहों को खारिज करते हुए सार्वजनिक रूप से फिर से उभरे शी जिनपिंग     |     सबसे पहले आरएसएस को बैन करिए : लालू प्रसाद     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 8860606201