छत्तीसगढ़ भाजपा ने कहा, साबित हो गया बघेल सरकार का रेतखोरी का खेल

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने अवैध रेत परिवहन करते पकड़े जा रहे वाहनों को राजसात करने की मांग करते हुए कहा है कि भूपेश बघेल सरकार में तीन साल से चल रहा रेतखोरी का खेल उजागर हो गया है। भाजपा इस सरकार के पहले ही दिन से चल रहे रेतमाफ़िया के कारोबार के खिलाफ लगातार आवाज उठाती रही, तब सरकार ने कोई कार्रवाई करने की बजाय रेतमाफ़िया को संरक्षण दिया और तीन साल में प्रदेश के सभी नदी, नालों, रपटों की रेत नोंच खाई।

वाहवाही लूटने की कोशिश

अब अवैध खनन और परिवहन पर सख्ती का दिखावा किया जा रहा है। अवैध खनन पर कोई नकेल कसने की जगह परिवहन कर रहे वाहन पकड़कर वाहवाही लूटने की कोशिश की जा रही है। सरकार ने रेतमाफ़िया को रेत से मुनाफाखोरी का नया रास्ता दिखा दिया है। रेत लोडिंग के लिए तीन गुनी अधिक रकम वसूली जा रही हैं, यह किसके संरक्षण में हो रहा है? अब तक कांग्रेस कह रही थी कि राज्य में कोई माफिया नहीं है तो क्या रेत के अवैध उत्खनन और परिवहन का काम कांग्रेसी सम्हाल रहे थे। अगर रेत की लूट नहीं चल रही थी तो ये वाहन कैसे पकड़े जा रहे हैं?

तीन साल में रेत माफिया ने पर्यावरण को पहुंचाया नुकसान

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष साय ने कहा कि भूपेश बघेल सरकार के संरक्षण में सवा तीन साल में रेत माफ़िया ने राज्य की सभी छोटी बड़ी नदियों, नालों की रेत खोदकर पुल पुलियों को कमजोर करने के साथ साथ पर्यावरण को भी भारी नुकसान पहुंचा दिया है। नरवा, गरुवा, घुरवा, बाड़ी, अरपा पैरी की धार का गाना गाती सरकार ने नदी नालों की दिशा मोड़ दी। अरपा, पैरी, महानदी सहित सभी नदियों को रेतहीन कर दिया। अब भाजपा के दबाव में पर्यावरण बचाने, रेतखोरी रोकने का नाटक किया जा रहा है। इतने लंबे अरसे से चल रहे रेत के खेल को आखिर किसलिए छूट दी गई? कांग्रेस ने सत्ता में आते ही माफियाराज आबाद कर दिया। रेतमाफ़िया ने अफसरों पर कई बार हमले किये तब भूपेश बघेल सरकार मदहोश थी। अब उसकी दिखावे की चेतना जागृत हुई है तो इसमें भी मुनाफाखोरी एक बड़ी वजह है। किसानों से ज्यादा धान तौलवाकर यूपी के लिए चुनाव फंड बटोरने वाले क्या अब अवैध रेत परिवहन के खिलाफ तथाकथित सख्ती के नाम पर तिगुने दाम बढ़वाकर चंदा ले रहे हैं?

सख्ती की आड़ में अपनी नीति के मुताबिक खेल

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष साय ने कहा कि भूपेश बघेल सरकार का यह राजनीतिक चरित्र सबके सामने आ गया है कि चोर से कहो चोरी करो और सिपाही से कहो कि जागते रहो। सरकार के संरक्षण में रेत की चोरी और लूट चल रही है तो सरकारी मुलाजिम भला क्या कर सकते हैं? भूपेश बघेल सरकार रेत के अवैध धंधे के मामले में बेनकाब हो गई है। अब वह रेतमाफ़िया द्वारा खोखले किये गए तटों पर पौधारोपण कराए और रेतमाफ़िया के वाहनों को राजसात करे। यदि रेतमाफ़िया के वाहन राजसात नहीं किये गए तो यह भी प्रमाणित हो जाएगा कि बघेल सरकार सख्ती की आड़ में भी अपनी नीति के मुताबिक खेल ही खेल रही है।

तुलसी की खेती का व्यापार कैसे शुरू करें | How To Start Tulsi Farming Business in Hindi     |     पीएम मोदी ने तीसरी वंदे भारत ट्रेन को दिखाई हरी झंडी     |     नवरात्रि में फलाहार का है वैज्ञानिक आधार     |     जिलों में एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल गठित किए जाएँ – मुख्यमंत्री चौहान     |     40 साल की मॉडल ने की आत्महत्या     |     सीडीएस जनरल अनिल चौहान ने संभाला पदभार     |     मध्य प्रदेश के कांग्रेस नेताओं का दिल्ली में जमावड़ा     |     PM मोदी के गुजरात दौरे का दूसरा दिन     |     राहुल गांधी के फर्जी वीडियो को लेकर दिल्ली कांग्रेस ने अशोक पंडित के खिलाफ दर्ज कराई शिकायत     |     जम्मू-कश्मीर के शोपियां और बारामूला में आतंकियों और सुरक्षा बलों की बीच मुठभेड़     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 8860606201